पूर्णिमा वाले दिन इस विशेष उपाय को कर लेने से बरसती है माता लक्ष्मी की अपार कृपा

हिंदू धर्म में पूर्णिमा की तिथि को लेकर कई सारी मान्यताएं है, यह दिन काफी खास होता है क्योंकि इसे पूर्णत्व की तिथि मानी जाती है। सरल शब्दों में समझें तो शुक्लपक्ष की अंतिम तिथि जिस दिन चंद्रमा आकाश में पूरा होता है, उस दिन को पूर्णिमा या पूर्णमासी कहते हैं। सूर्य और चन्द्रमा समसप्तक होते हैं। कहते हैं कि इस दिन जल और वातावरण में विशेष ऊर्जा आ जाती है। चन्द्रमा पूर्णिमा तिथि पर पृथ्वी और जल तत्व को पूर्ण रूप से प्रभावित करता है।

हर महीने की पूर्णिमा को कोई न कोई पर्व अथवा व्रत अवश्य मनाया जाता हैं। लेकिन मार्गशीर्ष पूर्णिमा का खास महत्व होता है। इस बार मार्गशीर्ष पूर्णिमा गुरुवार 12 दिसंबर 2019 को है। कहा जाता है कि इस तिथि वाले दिन चन्द्रमा स्वामी होते हैं, ऐसे में इस दिन हर तरह की मानसिक समस्याओं से मुक्ति मिल सकती है। यही वजह है कि इस दिन स्नान-दान और ध्यान विशेष फलदायी होता है। इस दिन श्री हरि या शिव जी की उपासना अवश्य करनी चाहिए।

अगर आपने कभी गौर किया होगा तो समझा होगा कि पूर्णिमा वह दिन है जिसमें चंद्रमा अपनी पूर्ण आकृति में होता है। पूर्णिमा का दिन माता लक्ष्मी को भी अत्यंत प्रिय होता है। पूर्णिमा के दिन इस खास उपाय को करने से जीवन में मां लक्ष्मी की विशेष कृपा होने लगती है।

मान्यता है कि मार्गशीर्ष पूर्णिमा पर तुलसी की जड़ की मिट्टी से पवित्र नदी, सरोवर या कुंड में स्नान करने से भगवान विष्ण की विशेष कृपा मिलती है। मार्गशीर्ष पूर्णिमा के दिन सूर्य और चंद्रमा ठीक आमने-सामने होते हैं। इस दिन चंद्रमा का प्रभाव मनुष्य पर सबसे अधिक होता है। मार्गशीर्ष पूर्णिमा के दिन गीता पाठ करने का भी महत्व है। कहा जाता है इस दिन गीता पाठ करने से पितरों को तृप्ति मिलती है।

वहीं यह भी बताया जाता है कि इस दिन अगर आप कुछ विशेष उपाय करते हैं तो आपके घर माता लक्ष्मी का आगमन होता है।

जी हां दरअसल शास्त्रों की मानें तो पूर्णिमा के दिन पीपल के वृक्ष में माता लक्ष्मी का आगमन होता है, इतना ही नहीं इस दिन सुबह सुबह स्नान कर पीपल के पेड़ पर कुछ मीठा चढ़ाकर जल अर्पित करना चाहिए।

वहीं आपको यह भी बता दें कि धर्म ग्रंथों के अनुसार चंद्रमा को मन का कारक और मां का सूचक माना है। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार चंद्रमा कर्क राशि का स्वामी है और चन्द्रमा जैसे-जैसे कृष्ण पक्ष में छोटा व शुक्ल पक्ष में पूर्ण होता है वैसे-वैसे मनुष्य के मन पर भी चन्द्र का प्रभाव पड़ता है।

आर्थिक समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए भी यह दिन विशेष माना जाता है, कहते हैं कि अगर आप इस दिन चंद्रोदय के समय चन्द्रमा को कच्चे दूध में चीनी और चावल मिलाकर “ॐ स्रां स्रीं स्रौं स: चन्द्रमासे नम:” या ” ॐ ऐं क्लीं सोमाय नम: ” मंत्र का जप करते हुए अर्ध्य देना चाहिए। ऐसा करने से धीरे-धीरे आर्थिक समस्याएं खत्म हो जाती हैं।

आपको बता दें कि पूर्णिमा के इस विशेष दिन पर माता लक्ष्मी की प्रतिमा पर 11 कौड़ियां चढ़ाकर उन पर हल्दी से तिलक करें। अगले दिन इन कौड़ियों को एक लाल कपड़े में बांधकर वहां रख दे जहां आप अपना धन रखते हैं। ऐसा करने से घर में कभी भी धन की कमी नहीं रहेगी।