अमेजन और फ्लिपकार्ट को चुनौती देने आ रहे हैं मुकेश अंबानी, ई-कॉमर्स के बनेंगे बेताज बादशाह

आज हम आपको एक ऐसे कंपनी के बारे में बताने जा रहे हैं जो सस्ते डाटा और कॉल की सुविधा मुहैया कराई इतना ही नहीं इस कंपनी के इतने सस्ते प्लान के कारण संचार क्षेत्र में मानो क्रांति सी आ गई। इतना ही नहीं आपको ये भी बता दें कि हम जिस कंपनी के बारे में बात कर रहे हैं वो रिलायंस कंपनी का जियो है। जो कि आज हर कोई यूज कर रहा है इतना ही नहीं ये भी बता दें कि रिलायंस इंडस्ट्रीज के प्रमुख मुकेश अंबानी अब ये करने के बाद खबरें हैं कि अंबानी ऑनलाइन शॉपिंग के क्षेत्र की दिग्गज कंपनियों अमेजन और फ्लिपकार्ट को टक्कर देने की तैयारी कर रहे हैं। जी हां इतना ही नहीं बताया जा रहा है कि इनके इस कदम से वो ई कॉमर्स को फायदा पहुंचाने वाले हर छोटी कंपनियों को फायदा होगा।

बताया जा रहा है कि पिछले एक डेढ़ साल में अमेजन 2.5 अरब डॉलर खर्च कर दो दर्जन से ज्यादा कंपनियों को खरीद चुका है और तो और उसमें हिस्सेदारी भी ले ली है ऐसा करने से आर्टीफीशियल इंटेलीजेंस से लेकर ग्राहकों के खर्च, आदतों पर नजर रखने के लिए डाटा एनालिटिक्स से जुड़ी कंपनियां शामिल हैं। जानकारी के लिए बता दें कि रिलायंस ने पिछले सप्ताह सात अरब रुपये में हैप्टिक इन्फोटेक को खरीदा, जो कि आर्टीफीशियल इंटेलीजेंस की मदद से ग्राहकों को मैसेजिंग सेवा प्रदान करती है। इतना ही नहीं इसके अलावा इससे पहले इंटरनेट ऑफ थिंग्स और 5जी की विशेषज्ञता वाली रेडिसिस से हाथ मिला चुकी है। इसके अलावा ये भी बता दें कि ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी एक्सपर्ट वक्त होल्डिंग्स के साथ खाना, ग्रोसरी और अन्य उत्पादों की आपूर्ति में आगे ग्रैब ए ग्रब को रिलायंस अपने साथ मिला चुकी है। ई कॉमर्स मार्केट प्लेस इन्फीबीम एवेन्यूज भी उससे जुड़ चुकी है। खबर तो ये भी है कि भारत का ई-कॉमर्स बाजार अभी 30 अरब डॉलर का है, जो अगले दस साल में 200 अरब डॉलर का हो जाएगा।

दरअसल रिलायंस की की देश में 4,000 रिलायंस रिटेल स्टोर्स, लगभग 50 वेयरहाउस और 4,000 रिलायंस जियो आउटलेट्स के साथ दुर्जेय रूप से भौतिक उपस्थिति है, जो कि अब 10,000 से अधिक हो जायेंगे। मुकेश अंबानी ने कहा कि “गुजरात रिलायंस की जन्मभूमि है और साथ ही इसकी कर्मभूमि भी है। यह हमेशा हमारी पहली पसंद बना रहेगा। रिलायंस इंडस्ट्री ने टेलिकॉम वेंचर जियो में अरबों डॉलर का निवेश किया है। इस बारे में अंबानी ने कहा, हमने अब तक गुजरात में लगभग 3 लाख करोड़ रुपये का निवेश किया है और राज्य में एक 10 लाख से ज्यादा आजीविका के अवसर तैयार किये है। पिछले दशकों की तुलना में रिलायंस अगले 10 वर्षों में इस निवेश और रोजगार की संख्या को दोगुना कर देगा। वहींंआपको ये भी बता दें कि रिलायंस के इस कदम से छोटे छोटे ऑनलाइन व्यापारियों को तो लाभ होगा ही इसके अलावा ग्राहको को इसका कितना लाभ होगा ये तो आने वाले समय में ही पता चलेगा। वैसे मुकेश अंबानी एक ऐसा नाम है जिनपर लोगों का विश्वास आसानी से हो जाती है। रिलायंस के साथ साथ इन्होने जियो को लाकर लोगों में विश्वास जगा दिया है।