शनिदेव का सिर्फ ये एक उपाय पूरी तरह से पलट देगा भाग्य

इस दुनियां में सारा खेल भाग्य का ही होता हैं. यदि आपकी किस्मत बढ़िया हो तो आपके सभी बिगड़े काम अच्छे से बन जाते हैं. वहीँ यदि किस्मत में लोचा हो तो बनते बनते काम भी बिगड़ जाते हैं. आपके अंदर कितना भी टेलेंट भरा हो या आप कितनी भी मेहनत कर ले लेकिन यदि आपके भाग्य ने धोखा दे दिया तो सारी चीजें धरी की धरी रह जाती हैं. इसलिए लाइफ में भाग्य का साथ देना बहुत जरूरी होता हैं. सुख और दुःख दो ऐसी चीजें हैं जो जीवन में आती जाती रहती हैं. हालाँकि यदि आपकी लाइफ में ये दुःख जाने का नाम ही नहीं ले रहा हैं तो शायद आपकी किस्मत खराब चल रही हैं. ऐसे में इन दुखो के निवारण के लिए हम भगवान की शरण में जा सकते हैं.

जब भगवान की बात आती हैं तो शनिदेव के उपाय सबसे ज्यादा जल्दी से काम करते हैं. शनिदेव सबसे ज्यादा शक्तिशाली देवता माने जाते हैं. वे चाहे तो किसी भी व्यक्ति के दुःख पलभर में हर सकते हैं. इसी बात को ध्यान में रखते हुए आज हम आपको शनिदेव का एक ऐसा ख़ास उपाय बताने जा रहे हैं जिसे एक बार आजमाने मात्र से आपका दुर्भाग्य सौभाग्य में बदल जाएगा. इस उपाय को आपको शनिवार के दिन करना हैं. जैसा कि आप सभी जानते हैं शनिवार का दिन शनिदेव को समर्पित होता हैं. ऐसे में शनिदेव आपकी ज्यादा जल्दी से सुन लेते हैं. तो चलिए फिर बिना किसी देरी के इस उपाय के बारे में जान लेते हैं.

शनिदेव का ये उपाय चमकाएगा भाग्य

इस उपाय को करने के लिए आप सर्वप्रथम शनिवार के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान कर ले. इसके बाद एक आम का पत्ता, एक केले का पत्ता और एक पीपल का पत्ता ले. इन तीनो पत्तों को शनिदेव के सामने बिछा दे. अब पीपल के पत्ते के ऊपर तेल का दीपक लगाए. केले के पत्ते के ऊपर काला तिल रखे और आम के पत्ते के ऊपर एक लाल पूजा का धागा रख दे. इसके बाद एक थाली में तेल के दीपक और कपूर को जलाकर शनिदेव की आरती करे. जब आरती समाप्त हो जाए तो इसे सबसे पहले शनिदेव को दे, इसके बाद तीनो पत्तो पर रखी सामग्रियों को दे. अंत में इसे स्वयं ले लेवे.

अब शनिदेव को अपनी समस्यां बताए और उनके सामने माथा टेके. इसके बाद पीपल के पत्ते पर रखे तेल के दीपक को तब तक जलने दे जबी तक वो सायं नहीं बुझ जाता. वहीँ पीपल के पत्ते पर रखे काले तिल को शनि मंदिर में दान कर दे. इसके बाद आम के पत्ते पर जो लाल धागा रखा था उसे अपनी कलाई पर बाँध ले. इससे आपका भाग्य प्रबल होगा और शत्रु की बुरी नज़र भी आको नहीं लगेगी. सभी पत्तो को बहती नदी में डाल दे या जमीन में गाड़ दे. इस उपाय से आपके दुर्भाग्य का अंत होगा और सौभाग्य का आरम्भ होगा.

दोस्तों यदि आपको ये खबर पसंद आई तो इसे दूसरों के साथ शेयर करना ना भूले ताकि वे भी इसका भरपूर लाभ ले सके.