बदल लीजिये अपनी ये आदतें जो आपके घुटनों के लिए है बेहद खतरनाक, महिलाएं दें खास ध्यान

उस वक़्त कितना बुरा लगता है जब फिट रहने के लिए आप दौड़ लगाना शुरू करते हैं और कुछ दिनों बाद ही आपके पैरों की मांसपेशियां खिंचने लगती हैं या आपको पता लगता है कि आपके जोड़ों में दर्द होने का कारण अर्थराइटिस है। ऐसे में आपा खुद से एक सवाल तो जरूर ही पूछते होंगे की आखिर मैं ही क्यों, खासतौर पर तब जब आप सेहतमंद रहने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हों। बता दें की घुटने का दर्द केवल बुजुर्ग लोगों को ही नहीं बल्कि कम उम्र वालों को भी तंग करने लगा है। इस समस्या के पीछे एक नहीं कई कारण हैं। फैशन, लाइफस्टाइल और गलत पॉश्चर के कारण ये बीमारी तेजी से फैल रही है। तो चलिये आज हम आपको बताते हैं की इस रोग के कारण और साथ ही आपको ये भी बताते हैं की अगर आप अपनी कुछ आदतों में सुधार ला देते हैं टी निश्चित रूप से आप इस समस्या से निजात पा लेंगे।

आपकी जानकारी के लिए बताते चलें की घुटने का ये रोग गलत तरह के फुटवियर पहनना, खानपान, चाल और अधिक वजन के कारण कभी भी किसी भी उम्र में हो सकती हैं। सिर्फ इन्ही वजहों के कारण ही नहीं बल्कि शरीर में विटामिन और मिनिरल्स की कमी इन बीमारियों को और बढ़ावा देती है और तो और बहुत ज्यादा दौड़ना भी इसके लिए जिम्मेदार होने लगा है। ऐसे में आपको ये जान लेना बहुत ही ज्यादा आवश्यक है की आप अपनी कुछ आदतों को एकदम से बदल लें ताकि आप आगे भी इस तरह की समस्या से जूझते ना रहें।

बताते चलें की गलत तरीके से केवल चलना या गलत फुटवियर को पहनना ही घुटने को नही खराब करता बल्कि अगर आप गलत तरीके से खड़े रहना और उठना-बैठना आदि भी इसके लिए जिम्मेदार है। आपने अक्सर ही देखा हगा की कई लोग खासकर महिलाएं पैर पर पैर चढ़ा कर बैठती है जो की इसका बड़ा कारण होता है। इसके अलावा आपको यह भी बता दें की अगर आप भारी वेट उठाने के आदि है तो ये आदत बदल दें क्योंकि इससे आपके घुटने तेजी से खराब हो सकते हैं।

ज़्यादातर कर के महिलाएं खुद को लंबी दिखने के लिए और फैशन के साथ चलने के लिए हाई हील्स का इस्तेमाल करती है जो की घुटने को खराब करने का बहुत बड़ा कारण है। फैशन और खुद को स्टाइलिश बनाने के लिएअगर आप हील्स को प्रेफर करती हैं तो जान ले ये आपके घुटने के दर्द के लिए न्योता है। हाई हील के कारण कमर पर चर्बी बढ़ती और इससे घुटनों पर अतिरिक्त भार पड़ता है। इतना ही नहीं कई बार हील्स के कारण सही चाल नहीं बनती जिससे बससे ज्यादा सफर घुटने ही करते हैं।

यह भी पढ़ें :