Video: पाक की जमीन पर इस शाही अंदाज़ में सफ़र कर भारत लौट रहा हैं अभिनंदन, इंतजाम ऐसा मानो पीएम आ रहा हो

दोस्तों आज पुरे देश में जश्न का माहोल हैं. इसकी वजह भारत का बच्चा बच्चा जानता हैं. दरअसल भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन आज भारत आ रहे हैं. इस खबर को लिखने तक वे लाहौर से निकल कर अटारी वाघा बॉर्डर पर पहुँच चुके थे. यहाँ कुछ कागजी कारवाई के बाद उन्हें भारतीय वायु सेना के हवाल एकर दिया जाएगा.

पकिस्तान अभिनंदन को इस्लामाबाद से पहले लाहौर लाया. फिर लाहोर से 23 किलोमीटर पर बनी वाघा बार्डर पर लाया गया. अभिन्दन को लाने के लिए रोड का रास्ता चुना गया. ऐसे में अभिनंदन को जब रोड के जरिये लाया जा रहा था तो वहां का नज़ारा देखने लायक था. इस दृश्य को देख ऐसा लग रहा था मानो पकिस्तान किसी इंडियन जवान को नहीं बल्कि अपने देश के पीएम को ला रहा हो. इतनी सारी कड़ी सुरक्षा और इतना बड़ा दादियों का काफिला, आज से पहले कभी किसी गैर-पाकिस्तानी के लिए नहीं देखा गया था. टीवी पर ये नाज़ारा देख हर किसी का दिल बाग़ बाग़ हो गया. ये काफिला जैसे जैसे आगे बढता जा रहा था लोगो के दिलो के अन्दर की ख़ुशी भी बढ़ते जा रही थी. हर कोई बस इसी इंतज़ार में था कि आखिर कब वो पल आएगा जब अभिनंदन भारतीय जमीन पर कदम रखेंगे.

गौरतलब हो कि 27 फरवरी से ही पूरा देश अभिनंदन की सहीसलामत वापसी की दुआएं कर रहा था. हुआ ये था कि भारत की 26 फरवरी वाली एयरस्ट्राइक के बाद बौखलाए पाकिस्तान ने अपने 22 विमान भारत में घुसपैठ करने के लिए भेजे थे. हालाँकि हमारी इंडियन एयरफोर्स को इसकी भनक जल्द लग गई और उन्होंने अपने सिर्फ 8 विमानों से ही उन्हें खदेड़ दिया. इनमे से एक प्लेन विंग कमांडर अभिनंदन उड़ा रहे थे. उनकी बहादुरी देखिए कि उहोने अपने 60 साल पुराने मिग 21 बिसन विमान से पकिस्तान का त्याधुनिक F16 को नीचे गिरा दिया था. हालाँकि इस मुठभेड़ में उनका प्लेन पाकिस्तान में क्रेश हुआ था. यहाँ उन्होंने पाकिस्तानी सेना के पहुँचने के पहले ही अपने प्रमुख दस्तावेजो को नष्ट कर दिया था. इसके बाद पाक सेना की कैद में रहने के बाद भी वो काफी शांत और निडर दिखाई दिए थे. उन्होंने बड़ी बेबाकी के साथ पाकिस्तान के मेजर के द्वारा पूछे गए सवालो का जवाब दिया था.

उधर भारत ने पाकिस्तान के ऊपर दबाव बनाना शुरू कर दिया था. भारत ने ना सिर्फ इस मसले को लेकर सख्त रवैया अपनाया बल्कि पाकिस्तान के ऊपर इंटरनेशनल प्रेशर भी डाला. इन सब बातो के चलते पाकिस्तान के पास और कोई चारा शेष नहीं रह गया था. इसलिए पीएम इमरान खान को संसद में ये एलान करना पड़ा कि वे अभिनंदन को बतौर शांति संदेश भारत को लौटा रहे हैं. यहाँ एक और दिलचस्प बात ये हैं कि अभिनंदन को वापसी लाने के लिए भारत ने पाक की कोई भी शर्त नहीं मानी हैं. भारत ने ये साफ कर दिया था कि अभिनंदन को लेकर वो पकिस्तान के साथ कोई भी डील नहीं करेगा. उसका कहना था कि अभिनंदन तो अपने देश की रक्षा कर रहा था. इसी के चलते वो पाकिस्तान जा पंहुचा. वो एक जंग वाला कैदी नहीं हैं. इसलिए पाकिस्तान को उसे हर हाल में वापस लौटना ही होगा.

देखे विडियो: