मुंबई में अपने घर की छत पर ही खेती करने लग गया ये अभिनेता, शेयर की तस्वीरें

आज की दुनिया में आपने एक्टिंग की दुनिया के बहुत सारे सितारों को रोमांस करते हुए, लड़ाई करते हुए, हंसाते हुए और बहुत कुछ करते हुए देखा होगा। परंतु खेती करते हुए बहुत कम सितारों को देखा होगा। इसमें भी मुंबई जैसे शहर में इस सितारे की तरह घर की छत पर खेती करना बहुत अच्छा काम है। तो आज हम आपको इस सितारे के बारे में बताएंगे और आप भी घर की छत पर ये खेती कैसे कर सकते हैं उसके बारे में बताएंगे

आर माधवन बॉलीवुड की दुनिया में अपने चार्मिंग लुक और एक्टिंग के लिए जाने जाते हैं। इस अभिनेता ने मुंबई में अपने घर की छत पर ही टेरेस गार्डन बना लिया है, जहां वह फल और सब्जियों की खेती करते है।आर माधवन संपूर्ण शाकाहारी आहार में मानते हैं। इसलिए वह खुद ही फल सब्जियों की खेती करने लगे हैं, जिसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर करते रहते हैं। ऊपर की एक तस्वीर में आप उन्हें अपने घर पर उगाई गई कुछ सब्जियों के साथ तस्वीर लेते हुए देख सकते हैं। आर माधवन ने एक इंटरव्यू में कहा था कि “40 के दशक में अगर आप सिर्फ एक सेब भी खा लेते थे तो आपके शरीर को जरूरी पोषक तत्व मिल जाते थे। परंतु आज के इस जमाने में उतने पोषक तत्व की जरूरत को पूरा करने के लिए आपको 41 सेब खाने होंगे। क्योंकि आधुनिक जमाने में सब कुछ केमिकल्स की मदद से उगाया जाता है, जिसमें पोषक तत्व बहुत कम होते हैं।

ऐसी चीजें खाने से बीमारियां भी होती है। इसलिए मैंने घर पर ही ऑर्गेनिक खेती करना चालू कर दिया।” शहरी विस्तार में घर की छत पर खेती करने की इस पद्धति को “अर्बन खेती” कहते हैं। इस खेती के लिए जिस तकनीक को उपयोग में लिया जाता है उसे ‘हाइड्रोपोनिक्स’ कहते हैं। इस तकनीक में पौधे को उगाने के लिए मिट्टी की जगह पानी का उपयोग किया जाता है। इस पद्धति की मदद से आप बहुत कम जगह में फल एवं सब्जियां उगा सकते हैं, जो पोषक तत्व से भरपूर होते हैं। अर्बन खेती करने का खर्चा भी बहुत मामूली है, इसलिए सामान्य आदमी भी इसे कर सकता है।

रंगनाथन माधवन का जन्म 1 जून 1970 में बिहार में जमशेदपुर (अभी के झारखण्ड में) में टाटा स्टील में मैनेजमेंट एग्जीक्यूटिव रंगनाथन और बैंक ऑफ़ इंडिया में मेनेजर सरोजा के यहाँ तमिल परिवार में हुआ।उनके मातापिता चाहते की वो किसी मैनेजमेंट स्कूल से एल्क्ट्रोनिक में डिग्री हासिल कर ले लेकिन माधवन की ऐसी ख्वाइश थी की आर्मी में जाना। आपनी माता पिता के इच्छा नुसार उन्होंने डिग्री की पढाई पूरी करने के बाद उन्होंने पुरे भारत में वक्तृत्व और व्यक्तित्व विकास के वर्कशॉप लेना शुरू कर दिया था।

1991 में जब वो महाराष्ट्र में वर्कशॉप ले रहे थे तो तब उनकी मुलाकात उनकी पत्नी सरिता बिरजे से हुई। उन्होंने फ़िल्म जगत में आने से पहले ही 1999 में शादी कर ली।सरिता ने माधवन के कुछ फिल्मो में कॉस्टयूम डिज़ाइनर का भी किया है। अगस्त 2005 में उन्हें लड़का हुआ जिसका नाम वेदांत है।आर माधवन अपने हुनर और अभिनय के दम पर पुरे हिंदी फ़िल्म की दुनिया में अपनी छाप छोड़ी है। उनकी रोमांटिक आखे और मुस्कान के लिए वो जाने जाते है। उनकी आखो में एक अलग चमक देखने को मिलती है और उनकी सुरीली आवाज के तो कई लोग दीवाने है।