फरवरी माह में इन 4 ग्रहों के फेरबदल से बढ्ने वाली है परेशानी, बचना हो बुरे प्रभावों से तो करें ये काम

वर्ष 2019 अभी हाल ही में शुरू हुआ है ऐसे में इस वर्ष का पहला में जनवरी समाप्त हो गया है और फरवरी शुरू हो चुका है। फरवरी के शुरू होते ही आपको बता दें कि कुछ ग्रहों ने अपनी राशि बदल दी हैं, जिसके चलते आपको अपने जीवन में बहुत ही परिवर्तन दिखाई देने वाले है। जी हां साल 2019 का दूसरा महीना फरवरी आज से शुरू हो गया है। ऐसे में ज्योतिष की दृष्टि से यह महीना बहुत ही खास माना जा रहा है क्योंकि इस महीने में चार ऐसे बड़े ग्रह है, जो अपनी राशि बदल रहे हैं। राशि बदलने से जीवन में कैसे कैसे होने वाले है आज हम वो को बताने वाले है, जिससे आप बचाव भी कर सकते है। जिससे आपको क्या करना चाहिए या क्या नही करना चाहिए।

सूर्य का गोचर:

सौरमंडल के सबसे बड़े ग्रह के रूप में सूर्य को माना जाता है। यह तो हम सभी जानते है कि मकर सक्रांति यानि 14 जनवरी को सूर्य गोचर कर जहां मकर राशि में प्रवेश किया था। तो वहीं इस महीने के 13 फरवरी को सूर्य मकर राशि परिवर्तित कर कुंभ राशि में प्रवेश करने जा रहे है।

चंद्रमा का गोचर:

ज्योतिष के अनुसार व्यक्ति के मन और मस्तिष्क पर चंद्रमा का ही राज होता है। आपको बता दे कि चंद्रमा इस समय धनु राशि में हैं लेकिन 3 फरवरी रविवार के दिन चन्द्रमा अपनी राशि परिवर्तन कर मकर राशि में प्रवेश करना जा रहा है।

मंगल का गोचर:

सौरमंडल के जहां सूर्य और चन्द्र सबसे प्रबल ग्रह है, उन्ही में से एक मजबूत ग्रह मंगल ग्रह है जो 5 फरवरी मंगलवार के दिन को अपनी राशि बदल कर मेष राशि में प्रवेश कर रहे है।

बुध का गोचर:

इन्ही में से एक बुद्धि और विवेक पर नियंत्रण रखता है, तो वो बुध ग्रह है। आपको बता दे कि इस माह फरवरी में दो बार राशि परिवर्तन कर रहा है। पहला 7 फरवरी को बुध कुंभ राशि में प्रवेश करेंगे और दूसरा 24 फरवरी को कुम्भ से बुध मीन राशि में प्रवेश में करेंगे। जानकारी के मुताबिक फरवरी माह में सूर्य, चंद्रमा, मंगल और बुध का इन चारों का ही राशि परिवर्ता होगा। ग्रहों के इन ग्रह परिवर्तन में मकर और कुंभ राशि सबसे अधिक प्रभावित हो रहे है। आपको बता दे कि ये परिणाम सकारात्मक ही होंगा।

क्या करें:

उपरोक्त ग्रहों से जुड़ी दशा, अंतरदशा, अशुभ प्रभाव चल रहा है तो ऐसे में आपको सावधान रहने की आवश्यकता है। आप चाहे तो फरवरी माह में इन ग्रहों से जुड़े उपायो को भी अपना सकते है। इसके साथ ही आप भगवान विष्णु और हनुमान जी की निरंतर उपासना कर सकते है। इसके साथ ही आप हर शनिवार को शनि मंदिर में जाकर तेल का दान भी कर सकते है।

क्या ना करें:

इस माह में किसी भी प्रकार का गलत कार्य करने से बचें। हो सके तो किसी को अपशब्द ना कहें और ना ही किसी के भी दिल को आघात करने वाली बाते न करे। किसी के बारे में बुरा ना सोचने और ना ही।किसी का भी अहित करने की सोचे। बड़ों का सम्मान और सेवा करें। ऐसा करने से आपको अपने कार्यों में सफलता हासिल मिलने में आसानी होगी।