भारत में यहाँ शादी के बाद पुरुषों को घर छोड़ रहना पड़ता हैं ससुराल, गृहणियों की तरह करते हैं काम

दोस्तों शादी एक ऐसी चीज होती हैं जो इंसान की लाइफ पूरी तरह बदल देती हैं. शादी के बाद आपकी कई सारी जिम्मेदारियां बढ़ जाती हैं. आपकी लाइफ में एक एक कर कई सारे परिवर्तन आते हैं. ऐसे में कई लोगो को तो शादी के बाद की लाइफ में एडजस्ट होने में भी काफी समय लग जाता हैं. खासकर लड़कियों के लिए शादी एक बहुत बड़ा बदलाव होता हैं. इसका कारण ये हैं कि भारत में शादी के बाद अधिकतर महिलाएं अपना मायका छोड़ ससुराल रहने चली जाती हैं. यहाँ ससुराल में महिला के लिए सब कुछ नया होता हैं. इस नए घर और नए लोगो के बीच एडजस्ट करने में महिलाओं को काफी दिक्कतें भी आती हैं. कई बार कोई गलती हो जाए या किसी से अच्छे से बने नहीं तो ससुराल वालो के ताने भी सुनने पड़ते हैं. कुछ ससुराल वाले तो घर की बहू पर ढेर सारी पाबंदियां भी लगा देते हैं. ऐसे में महिलाओं की आज़ादी भी खतरे में पड़ जाती हैं.

इसलिए हम कह सकते हैं कि शादी के बाद सबसे ज्यादा एडजस्ट सिर्फ महिलाओं को ही करना पड़ता हैं. पुरुष की बात करे तो वो तो अपने उसी घर में रहता हैं जहाँ के सभी लोगो को वो अच्छे से जनता हैं. उसकी लाइफ में कोई ख़ास बदलाव नहीं आता हैं बस घर में एक सदस्य और बढ़ जाता हैं. पिछले कुछ समय से महिलाओं और पुरुषों के बराबरी की बातें चल रही हैं. ऐसे में कई महिलाएं ये सवाल करती हैं कि शादी के बाद आखिर महिलाओं को ही घर छोड़ ससुराल क्यों जाना पड़ता हैं? क्या पुरुष शादी के बाद घर छोड़ अपने ससुराल नहीं आ सकते हैं?

भारत में इस तरह की धारणा को तोड़ना काफी मुशिकल भरा काम हैं. यदि कोई पुरुष अपना घर छोड़ ससुराल में घर जमाई बनकर रहता भी हैं तो समाज उसे ताने मार मार कर शर्मिंदगी का एहसास कराता रहता हैं. ऐसे में यह पुरानी परंपरा अभी तक बरकरार हैं. लेकिन आपको जान हैरानी होगी कि भारत का एक हिस्सा ऐसा भी हैं जहाँ शादी के बाद महिलाएं नहीं बल्कि पुरुष अपना घर बार छोड़ ससुराल रहने चले जाते हैं. आज हम आपको उसी जगह के बारे में बताने जा रहे हैं.

यहाँ शादी के बाद ससुराल रहते हैं पुरुष

दोस्तों आपको जान हैरानी होगी कि भारत के लक्षद्वीप में “मिनिकॉय” नाम के द्वीप पर रहने वाले “matrilineal मुस्लिम” और “खासी” समुदायों के लोगो में ये प्रथा बड़ी प्रचलित हैं कि शादी के बाद पुरुषों को अपना घर बार छोड़ ससुराल में रहना होगा. इतना ही नहीं इनमे से कई पुरुष तो अपने ससुराल में गृहिणियों की तरह रहते हैं और घर का काम काज भी सँभालते हैं.

दोस्तों यदि आपको ये जानकारी अच्छी लगी तो इसे दूसरों के साथ जरूर शेयर कीजिएगा. साथ ही हमें कमेंट में ये भी बताइये कि आपकी इस बारे में क्या राय हैं? क्या शादी के बाद सिर्फ महिलाओं को ही ससुराल जाना चाहिए या फिर पुरुषो को भी ऐसा करना चाहिए? यदि कोई पुरुष ऐसा करता हैं तो आप उसे ताना मरोगे या गर्व महसूस करोगे?