बेहद खुबसूरत थी शाहरुख़ खान की माँ, पुरे फिल्मी अंदाज़ में हुआ था शाहरुख़ के पापा से प्यार

बॉलीवुड के किंग कहे जाने वाले शाहरुख़ खान आज फिल्म इंडस्ट्री में एक बहुत बड़ा नाम हैं. देश विदेश में उनके फेंस की तादाद करोड़ो में हैं. आज भी शाहरुख़ की एक्टिंग कई लोगो का दिल जित लेती हैं. शाहरुख़ एक सेल्फ मेड एक्टर हैं. आज वो जिस मुकाम पर हैं अपनी मेहनत के दम पर हैं. शाहरुख़ रियल लाइफ में भी अपने विनम्र व्यवहार के लिए जाने जाते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि आज से करीब 60 साल पहले यदि इंडिया गेट पर एक कार एक्सीडेंट ना होता तो शाहरुख़ खान भी आज इस दुनियां में ना होते हैं. दरअसल इस कार एक्सीडेंट की वजह से ही शाहरुख़ की मम्मी लतीफ़ फातिमा खान और पापा ताज मोहम्मद खान आपस में मिले थे. आप सभी शाहरुख़ खान के बारे में तो बहुत सारी चीजें जानते हैं लेकिन आज हम उनके माता पिता के बारे में आपको बताने जा रहे हैं.

शाहरुख़ खान की माँ लतीफ़ फातिमा दिखने में बेहद खुबसुरत थी. उनकी मुलाकात शाहरुख़ के पापा यानी ताज मोहम्मद से एक बहुत ही सीरियस सिचुएशन में हुई थी जिसने बाद में एक फिल्मी लव स्टोरी का रूप ले लिया. दरअसल ये बात हैं करीब 60 साल पहले कि जब शाहरुख़ के पापा ताज मोहम्मद खान इंडिया डेट पर मोर्निंग वाक पर अपने के कजिन के साथ गए थे. इस दौरान यहाँ उन्होंने देखा कि एक कार का बुरी तरह एक्सीडेंट हो गया हैं. इस कार में तीन लड़कियां और उनके एक पिता मौजूद थे. इस एक्सीडेंट की वजह से एक लड़की का खून काफी बह गया था और उसे तुरंत अस्पताल ले जाकर खून चढ़ाने की जरूरत थी.

जब शाहरुख़ के पापा इन सभी घायलों को अस्पताल ले गए और वहां डॉक्टर ने ज्यादा घायल हुई लड़की का ब्लड टेस्ट किया तो वो सौभाग्य से ताज मोहम्मद से मैच खा गया. ये घायल लड़की और कोई नहीं बल्कि शाहरुख़ की माँ लतीफ़ फातिमा खान थी. ताज मोहम्मद ने फातिमा को खून तो दे दिया लेकिन फातिमा को अपनी हालत सुधारने में 6 महीने का समय लग गया. इस दौरान ताज मोहम्मद ने शुरुआत के कुछ सप्ताह फातिमा की देखभाल की और उनसे प्यार कर बैठे.

इधर ताज मोहम्मद की बहादुरी और दरियादिली से इम्प्रेस हुए फातिमा के पापा ने ताज मोहम्मद को उनकी बेटी फातिमा से शादी करने का प्रस्ताव रखा. दिलचस्प बात ये हैं कि उस दौरान फातिमा की पहले से कही ओर सगाई हो चुकी थी लेकिन फिर भी उनके पिता ने ताज मोहम्मद को अपनी बेटी से शादी करने को कहा. इस तरह दोनों के परिवार वाले इस शादी को राज़ी हो गए. फिर शादी के कुछ सालो बाद ही शाहरुख़ खान का जन्म हुआ.

इस तरह यदि उस दिन शाहरुख़ के पापा यदि इंडिया गेट पर मोर्निंग वाक पर ना जाते तो शायद हमे शाहरुख़ खान जैसा सुपर स्टार भी इस दुनियां में देखने को नहीं मिलता. शाहरुख़ अपनी माँ के बेहद करीब थे. उनका अपने पिता से भी लगाव था. शाहरुख़ को बस आज एक ही बात का दुःख होता हैं कि उनके माता पिता उन्हें सुपर स्टार बनते हुए नहीं देख पाए वरना वो बहुत खुश होते.