Exit Poll 2018 : इस बार 5 राज्यों के विधानसभा चुनाव में कौन मरेगा बाज़ी

इस समय पूरे देश में राजनीतिक चर्चे काफी ज़ोर पर हैं और हर एक पार्टी अपनी अपनी किस्मत आजमा रही है और इसी सिलसिले में आज राजस्थान में शाम 5 बजे तक करीब 72 फीसदी मतदान पड़े। बता दें की देश के 5 अहम राज्यों में फिलहाल विधानसभा के चुनाव चल रहे है और एक तरह से देखा जाए तो इसे 2019 लोकसभा चुनाव का सेमीफाइनल माना जा सकता है। बता दें की इस समय मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में तत्कालीन सरकार बीजेपी की ही है जहां पर उसकी दावेदारी भी काफी अच्छी मानी जा रही है। जबकि अन्य दो राज्यों, मिजोराम में कांग्रेस तथा तेलंगाना में टीआरएस की सरकार है। ऐसे में अब देखना ये है की इस बार किस पार्टी का राजतिलक होता है और कौन सी पार्टी को मुह की खानी पड़ती है, तो चलिये डालते हे एक नजर अभी तक के चुनावी माहौल पर।

वैसे तो जब तक नतीजे नहीं आ जाते सिर्फ अनुमान ही लगाया जा सकता है मगर इस दौरान हर तरफ से चलने वाले एग्जिट पोल से काफी हद तक चुनावी मुकाबले की तस्वीर साफ कर ही देते हैं। आपको बताते चलें की वोटों की गिनती 11 दिसंबर को होगी और उसी दिन अंतिम फैसला भी सामने आएगा।

मध्य प्रदेश

बताते चलें कि मध्य प्रदेश मैं विधानसभा की कुल 234 सीट है और फिलहाल यहां पर बीजेपी की सरकार है और इस बार भी बीजेपी अपनी चीज के प्रति पूरी तरह आश्वस्त है और तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को ही सीएम के चेहरे के तौर पर रखा गया है। 28 नंबर कहां पर वोट डाले गए थे जिसके नतीजे 11 दिसंबर को आएंगे। आपको यह भी बता दें कि 2013 में हुए चुनाव में बीजेपी को कोई 168 सीटें मिली थी जबकि कांग्रेस को 58 सीटों से ही संतोष करना पड़ा।

राजस्थान

बता दें की राजस्थान विधानसभा में कुल 200 सीटें हैं, मगर इस बार केवल 199 सीटों के लिए ही चुनाव हुए हैं। राजस्थान में 7 दिसंबर को वोट डाले गए जिसके नतीजे 11 दिसंबर आएंगे। आपकी जानकारी के लिए बताते चलें की 2013 के चुनाव में बीजेपी यहाँ से 163 सीटों पर जीत हासिल की थी जिसके बाद वसुंधरा राजे सिंधिया को मुख्यमंत्री बनाया गया था जबकि कांग्रेस को मात्र 21 सीटें ही मिल पायी थीं।

छत्तीसगढ़

बात करें छत्तीसगढ़ विधानसभा की तो यहाँ पर कुल 90 सीटों पर 12 नवंबर और 20 नवंबर को मतदान हो चुका है जिसके नतीजे 11 दिसंबर आने हैं। बताते चलें की यहा पर भी बीजेपी की सरकार है जिसकी तरफ से रमन सिंह लगातार 3 बार से यहां के मुख्यमंत्री रहे हैं। जानकारी के लिए बताते चलें की वर्ष 2013 के चुनाव में यहाँ पर बीजेपी को 49 सीटें मिली थीं, जबकि मुख्य विपक्षी दल, यानी की कांग्रेस को 41 सीटों से ही संतोष करना पड़ा था। वैसे आपको बता दें की इस बार यहाँ से कांग्रेस अपनी जीत के प्रति काफी ज्यादा आश्वस्त दिख रही।

तेलंगाना

आपको बता दें की इसके पहले विधानसभा चुनाव के वक़्त आंध्र प्रदेश और तेलंगाना दोनों एक ही राज्य थे, हालांकि 2014 के बाद बंटवारा होने के बाद तेलंगाना के हिस्से में 119 सीटें आईं। इनमें तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) को 90 सीटें और कांग्रेस के हिस्से में 13 सीटें आईं। फिलहाल यहाँ पर टीआरएस के अध्यक्ष के. चंद्रशेखर राव मुख्यमंत्री के पद पर हैं मगर काँग्रेस भी यहाँ पर कड़ी लड़ाई में है। आपकी जानकारी के लिए यह भी बताते चलें की तेलंगाना में 7 दिसंबर को वोटिंग हो गयी है और यहाँ के नतीजे भी 11 दिसंबर को घोषित किए जाएंगे।

मिजोरम

अब बात करते हैं पांचवें राज्य यानी की मिजोरम की तो आपको बता दें की यहाँ पर विधानसभा की कुल 40 सीटें हैं। फिलहाल यहाँ पर काँग्रेस की सरकार है और ललथनहवला को मुख्यमंत्री बनाया गया था। हालांकि बीजेपी यहाँ पर भी अपनी सरकार बनाने के लिए पूरा ज़ोर लगा रही है और 2018 के चुनाव में पूरा ज़ोर लगाते हुए बीजेपी की तरफ से पीएम मोदी तथा अमित शाह के अलावा और भी कई कद्दावर नेता भी प्रचार के लिए पहुंचे थे। बता दें की यहाँ पर 28 नवंबर को वोट डाले गए, जिसके परिणाम 11 दिसंबर को आ जाएंगे।