आपकी आदत भी है पेट के बल सोने की तो हो जाइए सावधान, होती हैं इतनी सारी समस्याएँ

दिन भर के काम से जब आप थक-हार कर घर आते हैं तो बिना कुछ सोचे समझे हम बेड पर जैसे मन करता हैं, वैसे ही सो जाते हैं। मगर हम ये नहीं सोचते हैं कि हम जैसे सो रहे हैं वो हमारे सेहत के लिए लाभदायक है या नहीं बस हमे अपने नींद की पड़ी होती है। लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अजीब ढंग से या पेट के बल सोने से आपको हेल्थ संबंधी कई सारी परेशानियाँ उत्पन्न हो सकती हैं, इसलिए आज हम आपको पेट के बल सोने के नुकसान के बारे में बताने जा रहे हैं।

पेट खराब होने की शिकायत

यदि आप पेट के बल सोते हैं तो आपके पेट पर पूरे शरीर का भार पड़ता हैं और इसकी वजह से आपका खाना ठीक तरह से खाना पच नहीं सकता हैं और आपको अपच की शिकायत होने लगती है| इतना ही नहीं इस पोजीशन में सोने से आपके पेट में दर्द भी रहने लगता हैं और आपको गैस की भी शिकायत होने लगती हैं। इसलिए सोने से पहले इन बातों पर जरूर ध्यान दें कि क्योंकि आपकी एक गलत आपको कई परेशानियों में डाल सकती हैं, इसलिए पेट के बन सोने से हमेशा बचे बल्कि सोने की सही मुद्रा में सो कर अपन्नी नींद पूरी करे और इन सभी समस्याओं से दूर रहिए।

सिरदर्द की समस्या

यदि आप पेट के बल सोते हैं तो आपको बार-बार सिर दर्द की शिकायत रहती हैं और यदि आप पेट के बल सोने की आदत बना लेते हैं तो यह आपके हमेशा की लिए सिर दर्द की समस्या बन जाती है। दरअसल इस पोजीशन में सोने पर गर्दन मुड़ जाती हैं और इसके कारण सिर तक ब्लड की सप्लाई बाधित होती हैं और इसके कारण सिर दर्द की शिकायत होने लगती हैं। हालांकि सिर दर्द होने की और भी वजह ही सकती हैं लेकिन यदि आप पेट के बल सोते हैं तो आपकी नींद ठीक तरीके से पूरी नहीं हो पाती हैं और नींद ना पूरी होने के कारण आपको धीरे-धीरे नींद ना आने की भी शिकायत होने लगती हैं, लेकिन यदि आपकी नींद नहीं पूरी होगी तो जाहीर सी बात हैं कि आपको सिर दर्द की समस्या से दो-चार तो होना ही पड़ सकता हैं।

स्पाइन पर खिंचाव महसूस होना

दरअसल पेट के बल सोने से स्पाइन में खिंचाव और दबाव पड़ता हैं, जिसके कारण आपके स्पाइन पर बुरा प्रभाव पड़ता हैं। दरअसल ऐसा इसलिए होता हैं क्योंकि पेट के बल सोने से आपके शरीर का सारा भर आपके बीच भाग के शरीर पर होता हैं, इसलिए कभी भी पेट के बाल ना सोएँ। स्पाइन में खिंचाव होने के कारण आपके पूरे शरीर में दर्द हो सकता हैं और दर्द होने के कारण आप कोई भी काम ठीक तरीके से नहीं कर पाते हैं।

पीठ पर पड़ता है बुरा असर

पेट के बल लगातार आठ घंटे सोने से आपके पीठ पर बुरा असर पड़ता हैं| इतना ही नहीं आठ घंटे सोने के बावजूद आपकी नींद नहीं पूरी होती हैं और थकान भी महसूस होता हैं, इसके अलावा आपके गर्दन और पीठ में दर्द की भी शिकायत रहती हैं।

यह भी पढ़ें :