होजाए साबधान -दिसंबर माह में इन 3 राशियों की कुंडली में बना काल सर्प योग, जानें कैसे करें बचाव

शास्त्रों में बताया गया है की सूर्य, चंद्र और गुरु के साथ राहू के होने से काल सर्प दोष उत्पन्न होता हैं। आपकी जानकारी के लिए यह भी बताते चलें की राहू का अधिदेवता ‘काल’ है और केतु का अधिदेवता ‘सर्प’ है और इन दोनों ग्रहों के बीच कुंडली में एक तरफ सभी ग्रह हों तो ‘कालसर्प’ दोष कहते हैं और राहू-केतु हमेशा वक्री चलते हैं तथा सूर्य चंद्रमार्गी। इसे काल सर्प योग या काल सर्प दोष कहते हैं। काल सर्प दोष 12 प्रकार के होते हैं और ये आपके कार्यों में बाधा उत्पन्न कर रहे हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस दिसंबर महीने में तीन राशि के जातको के ऊपर काल सर्प योग बन रहा हैं और वो राशियाँ मेष कर्क और कन्या हैं। हालांकि किसी के कुंडली में काल सर्प योग होना शुभ नहीं होता हैं और यदि आपके कुंडली में ये उत्पन्न हो जाए तो इसके लिए आप क्या करेंगे, आज हम आपको उसी के बारे में आपको बताने वाले हैं।

काल सर्प दोष के कारण ही आपके हर कार्य में बाधा उत्पन्न होती हैं और दुर्घटना होने की भी संभवना रहती हैं और आपका मन विद्या अर्जन में नहीं लगता हैं या फिर आपके शरीर में किसी प्रकार की कोई तकलीफ उत्पन्न हो जाती हैं, जिसके कारण आपका पढ़ाई में मन नहीं लगता हैं। बता दें कि विवाह में विलंब होना भी काल सर्प दोष के कारण ही होता हैं, इतना ही नहीं संतान का सुख प्राप्त ना होना या फिर संतान उत्पन्न हो जाए तो उसके विकास में बाधा उत्पन्न होना आदि शामिल हैं।

इसके अलावा भी आपके जीवन में आने वाली हर समस्या का जड़ आपके कुंडली में उत्पन्न काल सर्प दोष के कारण ही होता हैं, अर्थात यदि आपके जीवन में इस प्रकार की कोई भी समस्या उत्पन्न हो रही हैं तो इसका तात्पर्य हैं कि आपके कुंडली में काल सर्प दोष उत्पन्न हो गया हैं।काल सर्प दोष से बचने के लिए आप कुछ उपाय कर सकते हैं और इससे बच सकते हैं। बता दें कि इस दिसंबर के माह में मेष, कर्क और कन्या राशि के जातको के कुंडली में काल सर्प दोष उत्पन्न हो रहा हैं।

ऐसे में आप इस दोष से बचने के लिए सबसे पहले किसी को भी धन ना दे क्योंकि ऐसा करने से आपको धन की हानी हो सकती हैं। इसके अलावा यदि आप कोई नया काम शुरू करने जा रहे हैं तो कुछ महीने रुक जाए क्योंकि यह काल सर्प दोष आपके काम में रुकावट डालेगा, इसलिए इस महीने कोई भी नया काम शुरू ना करे। लेकिन यदि इस काल सर्प दोष से आपको बहुत ज्यादा कष्ट हो रहा हैं तो आप अपने आस-पास के शिवालय में जाए और वहाँ भगवान शिव को दो चाँदी या तांबे के सर्प अर्पित कर दे और उनसे अपने कष्टों को दूर करने की प्रार्थना करे।

ऐसा करने से आपके काल सर्प दोष दूर हो जाएंगे और आपके जीवन से सभी कष्टो का निवारण भी हो जाएगा और आपके जीवन में खुशियाँ एक बार फिर से दस्तक देंगी और आपकी आर्थिक समस्या भी बहुत जल्द दूर हो जाएंगी। बता दें कि आपको यह काम सोमवार के दिन करना हैं क्योंकि यह भगवान शिव का दिन माना जाता हैं।