हमेशा गुस्से से लाल रहने वाले लोग पहन लें ये अंगूठी, हमेशा के लिए भूल जाएंगे गुस्सा चेहरे पर बनी रहेगी मुस्कान

कई बार आपने ऐसा महसूस किया होगा की हममें से कुछ ऐसे लोग होते हैं जो बेहद गुस्से वाले स्वभाव के होते हैं और उनको हर छोटी से छोटी बात पर गुस्सा भी आ जाता है। तो ये मनुष्य के स्वभाव के अनुकुल है क्योंकि कई लोगों के स्वभाव में गुस्सा होने की आदत होती है तो कई लोग काफी खुशमिजाज होते हैं। वैसे अगर इस बारे में ज्योतिष शास्त्रों की मानें तो कहा जाता है की गुस्सा करने वाले लोगों को अपने मंगल व सूर्य ग्रह को शांत करने के लिए तांबा पहनना चाहतए। एक खनिज पदार्थ के रूप में तांबा शरीर के लिए कई प्रकार से उपयोगी है। शरीर में तांबे की कमी आपको बार-बार बीमार करता है।

आयुर्वेदिक और ज्योतिषीय दृष्टि से भी यह मनुष्य के लिए कई प्रकार से लाभकारी है। लेकिन परेशानियों को दूर करने के लिए सही विधि से इसका प्रयोग आवश्यक है। शायद आपको पता ना हो लेकिन धातु रूप में तांबे को अंगूठी, ब्रेसलेट, चेन या ईयरिंग के रूप में पहनकर भी आप इसके फायदे होंगे। तो आज हम आपको इसी विषय के बारे में कुछ बताने जा रहे हैं। तो आइए आज हम उन लोगों के बारे में एक ख़ास बात जानते हैं जिन्हे बेहद ज्यादा ही गुस्सा आता है।

तांबे का धातू पहनने से होते हैं कई सारे अचूक लाभ

दरअसल अगर आपने कभी गौर किया होगा तो देखा होगा की कई लोग अपने हाथों की उंगलियों में लोग अलग-अलग तरह के धातु धारण करते हैं क्योंकि ज्योतिष शास्‍त्र में बताया गया है की धातुओं और ग्रहों का घनिष्ठ संबंध होता है और यही वजह है की ग्रहों को शांत करने के लिए धातु का प्रयोग किया जाता है।

वैसे बताते चलें की ग्रहों के चाल के कारण ही व्यक्ति के जीवन पर शुभ और अशुभ फल मिलते हैं और तो और ये भी कहा जाता है की अगर धातुओं में तांबा शुद्ध व शांत धातु मानी गई है और इसका संबंध मंगल व सूर्य से होता है। इतना ही नहीं माना जाता है की अगर व्यक्ति का सूर्य या मंगल कमजोर हो, तो तांबे की अंगूठी या छल्ला धारण करने से आपको अधिक लाभ पहुंचेगा। साथ ही यह आपके जीवन में काफी बदलाव भी लाता है।

वहीं इसके अलावा ये भी बता दें की पंडित या ऋषियों की मानें तो जो भी कोई इंसान को वो हाथों में धातू पहनने की सलाह देते हैं, वो लोग हाथों में तांबे या लोहे की अंगूठी पहनते हैं। कहते हैं तांबे का संबंध सूर्य से होता है। हिंदू धर्म की मान्यता है की भगवान सूर्य को भगवान की तरह पूजा जाता है।

भगवान सूर्य को यश और सम्मान का प्रतीक भी माना जाता है और यही वजह है की व्यक्ति को ऐसे में तांबे की अंगूठी धारण करने की सलाह दी जाती है क्योंकि ऐसे लोगों की समाज में पद-प्रतिष्ठा और सम्मान की प्राप्ति भी होती है। इसके अलावा कई लोगों को तो ये भी मानना होता है की कुंडली में सूर्य दोष हो, तो तांबे की अंगूठी को रिंग फिंगर में पहनना चाहिए।

इसके साथ ही आपको ये भी बता दें की ज्योतिषियों का मानना है की अगर कोई व्यक्ति मानसिक विकार से पीडि़त हो या फिर ज्यादा गुस्से वाला हो तो उसे तांबा जरूर धारण करना चाहिए क्योंकि तांबा वास्तुदोष के साथ ही गुस्से को भी दूर करता है।