शाहरुख़ खान का आधा परिवार रहता है सरहद पार, मिलिए उनके बहन और बहनोई से

बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख़ खाना आज की पहचान के मोहताज नहीं है आज पूरी दुनिया में अपनी पहचान बन अचुके शाहरुख़ को पूरी दुनिया के लोग जानते हैं. वो ना केवल बॉलीवुड के सबसे ज्यादा बिकने वाले अभिनेता हैं बल्कि एक अच्छे इंसान भी हैं. जहाँ तक शाहरुख़ के पर्सनल लाइफ का सवाल है तो आपको बता दें की आज उन्हें जिदगी में जो भी मुकाम हासिल हुआ है वो सब उन्होनें अपने दम पर कमाया है . बात यदि शाहरुख़ के परिवार की करें की उनकी फैमिली में हमने हमेशा ही उनकी बीवी गौरी और तीनों बच्चों के बारे में ही सुना है इसके आलवा शाहरुख़ खान की पुशतैनी फैमिली कहाँ रहती है इस बारे में किसी को नहीं मालूम. आज हम आपको इस पोस्ट के जरिये बताने जा रहे हैं की शाहरुख़ खान के आधे परिवार के बारे में जो हिन्दुस्तान में नहीं बल्कि सरहद पाकिस्तान में रहता है.

जी हाँ, आपको बता दें की बॉलीवुड के किंग ऑफ़ रोमांस शाहरुख़ खान के माता पिता का देहांत काफी पहले ही हो चूका था. शाहरुख़ के पिता एक स्वतंत्रता सेनानी थे और उनकी अम्मी की मौत कैंसर जैसे जानलेवा बीमारी की वजह से हुई थी. आपकी जानकारी के बता दें की शाहरुख़ के पिता मेरे ताज मोहम्मद भारत पकिस्तान के विभाजन के वक़्त हमेशा के लिए दिल्ली आकर बस गये थे लेकिन उनके जान पहचान के और बहुत से रिश्तेदार आज भी पाकिस्तान में ही रहते हैं. आपको बता दें की शाहरुख़ खान एक सगे भाई बहन आज भी अपने पूरे परिवार के साथ सरहद पार ही रहते हैं.

आपको बता दें की शाहरुख़ के बही मंसूर खान और उनकी बहन नूरजहाँ आज भी पाकिस्तान में ही रहते हैं. ख़बरों की माने तो शाहरुख़ खुद तो कभी विभाजन के बाद पाकिस्तान नहीं गये लेकिन उनके भाई बहन अक्सर उनसे मिलने इंडिया आ ही जाते हैं. आपको बता दें की शाहरुख़ की बहन नूरजहाँ आखिरी बार शाहरुख़ खान से मिलने साल 1997 में आई थी लेकिन इसके बाद उन्हें कभी मौका नहीं मिल पाया की वो दुबारा भारत आ पाए. राजनीतिक तौर पर भारत और पाकिस्तान के सम्बन्ध बिगड़ने की वजह से दोनों मुल्क के लोगों का भी मिलना जुलना ना के बराबर ही रह गया है.

आपको बता दें की पकिस्तान में शाहरुख़ के भाई मंस्सर खान का पेशावरी चप्पलों की दूकान है. एक इंटरव्यू में उन्होनें कहा था की जब भी उन्हें मौका मिलता है तो वो जरूर भरत दो चप्पल की जोड़ियां भेज ही देते हैं क्योंकि शाहरुख़ को वो बेहद पसंद था. उनके भाई मंसूर का कहना है की वो दोनों बचपन में अक्सर गलियों में खेला करते थे, शाहरुख़ को बचपन से ही अभिनेता बनने का खूब शौख था और यहीं वजह है की वो आज इतने बड़े अभिनेता बन पाएं हैं. बात करें उनकी बहन नूरजहाँ का वो शाहरुख़ से बेहद प्यार करती हैं और इसलिए उन्होनें अपन बेटे का नाम भी शाहरुख़ ही रखा है. हालांकि दोनों परिवारों का आपस में मिलना तो नहीं हो पाता है लेकिन सरहद पार रहने के वाबजूद भी इन सबके बीच प्यार की कोई कमी नहीं आई है .