25 सितंबर को बन रहा मंगलवार और पूर्णिमा का योग, इन चार राशियों की पलट जायेगी किस्मत,भर जायेगा घर धन-धान्य से

पूर्णिमा की तिथि धार्मिक रूप से बहुत ही खास मानी जाती है विशेषकर हिंदूओं में इसे बहुत ही पुण्य फलदायी तिथि माना जाता है।पूर्णिमा पंचांग के अनुसार मास की 15 वीं और शुक्लपक्ष की अंतिम तिथि है जिस दिन चंद्रमा आकाश में पूरा होता है इस दिन का भारतीय जनजीवन में अत्यधिक महत्व हैं| हर माह की पूर्णिमा को कोई न कोई पर्व व व्रत अवश्य मनाया जाता है| वैसे तो प्रत्येक मास की पूर्णिमा महत्वपूर्ण होती है लेकिन भाद्रपद मास की पूर्णिमा बहुत ही खास होती है। इसके खास होने के पिछे कारण यह है कि इसी पूर्णिमा से श्राद्ध पक्ष आरंभ होता है जो आश्विन अमावस्या तक चलते है। इस पूर्णिमा को स्नान दान का भी विशेष महत्व माना जाता है।

एक और देश भर में गणेशोत्सव की समाप्ति से जोश भरा होता है तो वहीं अपने पूर्वजों यानि पितरों को याद करते हुए उनके प्रति श्रद्धा प्रकट करने का पूरा एक पखवाड़ा यानि श्राद्ध पक्ष इस तिथि से आरंभ होते हैं। वहीं इस पूर्णिमा पर भगवान सत्यनारायण की पूजा करने का विधान भी है। मान्यता है कि भगवान सत्यनारायण की पूजा करने से उपासक के सारे कष्ट कट जाते हैं और घर सुख-समृद्धि व धन धान्य से भरा रहता है। व्रती के अपने जीवन में पद व प्रतिष्ठा को प्राप्त करता है।

इस साल भाद्रपद की पूर्णिमा तिथि का आरंभ 24 सितंबर 2018 के दिन 07:18 को होगा और  इसका अंत 25 सितंबर 2018 को 08:22 मिनट पर होगा।25 सितंबर को मंगलवार और पूर्णिमा तिथि है। साथ ही इस दिन सर्वार्थसिद्धि योग भी बन रहा है  और ज्योतिषों की मने तो इस शुभ योग में कुछ राशियों को विशेष लाभ मिलने वाला है और हम आपको आज उन्ही राशियों में विषय में बताने जा रहे है |तो आइये जानते है कौन सी हैं वो भाग्यशाली राशियाँ

सिंह राशि 

भाद्रपद पूर्णिमा के इस योग में आप अपने जीवन में बड़े परिवर्तन देखेंगे। मां लक्ष्मी की अपार कृपा रहेगी, भोजन एवं पेय पदार्थों के सेवन में ध्यान रखें वरना नुकसान होगा। यात्रा अत्यंत लाभकारी होगी, तीर्थ यात्रा का योग भी बन सकता है। व्यवसाय से जुड़े लोगों को कोई अत्यंत ही लाभकारी डील होगी।आप ऊर्जावान रहेंगे और अपनी सकारात्मक सोच से सभी को प्रभावित करेंगे।

आगे पढ़े अगले पेज पर