शिवलिंग पर कभी न चढ़ाएं ये 7 चीजें, वरना शिव जी हो सकते है नाराज

इसमें कोई शक नहीं कि भगवान् शिव वास्तव में बेहद भोले है. जी हां तभी तो उन्हें भोलेनाथ भी कहा जाता है. शायद यही वजह है कि शिव जी अपने भक्तो से काफी जल्दी प्रसन्न हो जाते है. हालांकि जब उन्हें क्रोध आता है, तो उनके क्रोध से बच पाना भी काफी मुश्किल होता है. इसलिए ये जरूरी है कि व्यक्ति को कभी कोई ऐसा काम नहीं करना चाहिए, जिससे शिव जी उससे नाराज हो जाए. इसके इलावा भगवान् शिव को प्रसन्न करने के लिए अगर हम थोड़ा सा प्रयत्न करे तो इसमें कोई बुराई भी नहीं है.

वैसे भी भगवान् शिव ने हमें इतना कुछ दिया है, ऐसे में अगर हम उन्हें बिना कुछ दिए, केवल उनसे मांगते और लेते रहेंगे तो यक़ीनन हम लालची ही कहलायेंगे. वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दे कि शिव जी को भोले बाबा भी कहते है और जब भोले बाबा को गुस्सा आता है, तो धरती भी कांपने लगती है. बरहलाल अगर आप शिव जी को कभी नाराज नहीं करना चाहते तो भूल कर भी शिवलिंग पर ये सात चीजें न चढ़ाएं. जी हां इससे शिव जी आपसे नाराज नहीं होंगे.

१. शंख जल.. गौरतलब है कि भगवान् शिव जी ने शंख चूड नाम के एक असुर का वध किया था. यानि अगर हम सीधे शब्दों में कहे तो शंख को उसी असुर का प्रतीक माना जाता है, जो भगवान् विष्णु जी का भक्त था. यही वजह है कि भगवान् विष्णु की पूजा तो शंख से की जाती है, लेकिन भगवन शिव की पूजा शंख से नहीं की जाती. इसलिए गलती से भी शिव जी को कभी शंख में जल लेकर न चढ़ाएं.

२. तुलसी पत्ता.. आपकी जानकारी के लिए बता दे कि तुलसी का जन्म जलंधर नामक असुर की पत्नी वृंदा के अंश से हुआ था. जिन्हे भगवान् विष्णु ने अपनी पत्नी के रूप में भी स्वीकार किया था. यही वजह है कि तुलसी के पत्ते से शिव जी की पूजा नहीं की जा सकती और शिव जी की पूजा के लिए बिल्व पत्र का ही इस्तेमाल किया जाता है.

३. तिल.. गौरतलब है कि तिल को भगवान् विष्णु के मैल से उत्पन्न हुआ माना जाता है. यही वजह है कि तिल को कभी भगवान् शिव पर नहीं चढ़ाया जाता. ४. खंडित चावल.. शास्त्रों के अनुसार भगवान् शिव को अक्षत यानि साबुत चावल ही अर्पण करने चाहिए. जी हां बता दे कि टूटे हुए यानि खंडित चावल अशुद्ध माने जाते है और इन्हे कभी शिव जी पर नहीं चढ़ाना चाहिए.

५. कुमकुम.. गौरतलब है कि कुमकुम को सौभाग्य का प्रतीक माना जाता है. जब कि भगवान् शिव जी खुद एक वैरागी है. इसलिए कुमकुम भी भगवान् शिव जी पर नहीं चढ़ाना चाहिए.

६. हल्दी.. गौरतलब है कि हल्दी का संबंध भी भगवान् विष्णु और सौभाग्य से माना जाता है. इसलिए हल्दी को भी शिवलिंग पर नहीं चढ़ाना चाहिए. हालांकि कुछ लोग तिलक के रूप में इसका इस्तेमाल जरूर करते है, लेकिन ये गलत है.

७. नारियल.. गौरतलब है कि नारियल को देवी लक्ष्मी का प्रतीक माना जाता है. ऐसे में इसका संबंध भगवान् विष्णु से है. यही वजह है कि शिव जी पर नारियल या नारियल पानी नहीं चढ़ाया जाता.

बरहलाल हम उम्मीद करते है कि इसे पढ़ने के बाद आप समझ गए होंगे कि शिव जी पर या शिवलिंग पर कौन सी चीजे नहीं चढ़ानी चाहिए.