शनि देव ने बदली अपनी चाल, हो गये वक्री, इन 4 राशियों के लोगो को होगी बहुत बड़ी हानि

ज्योतिष शास्त्रों के अनुसार शनि को हमेशा से ही एक पापी गृह के रूप में माना जाता है और शनिदेव को न्याय के देवता माना जाता है और ये हमेशा अपनी चाल बदलते रहते है| कभी कभी ये बदलाव हमारे लिए खुशिया लेकर आता है तो कभी दुःख की घड़ी इसलिए ग्रहों का परिवर्तन हमारे जीवन में बहुत ही महत्व रखते है| आपको बता दे की अगर किसी व्यक्ति के ग्रह नक्षत्र सही हो तो व्यक्ति अपने जीवन में को हर तरह का सुख प्राप्त कर सकता है और उसे जीवन में किसी चीज की कमी नहीं रहती। लेकिन, अगर किसी व्यक्ति के ग्रह नक्षत्र सही न हो तो उस व्यक्ति का जीवन परेशानियों से भरा रहता है|

शनि देव को न्याय का देवता माना गया है और शनि देव गलत और बेईमान लोगों को पीड़ित करते हैं तो ईमानदार, परिश्रमी लोगों को उनकी इच्छा अनुसार सरे सुख प्रदान करते हैं| ज्योतिष के जानकारों का ये मानना है कि शनि की नजर बेहद महत्वपूर्ण है. समस्त ग्रहों में सबसे ज्यादा ताकतवर दृष्टि शनि की होती है और ये सभी ग्रहों में सबसे ताकतवर भी माना जाता है|  शनि की दृष्टि अलग-अलग ग्रहों पर पड़कर अलग-अलग दुष्परिणाम पैदा करती है|जब शनि देव की बुरी दृष्टि किसी के ऊपर आजाये तो उसका बुरा समय सुरु हो जाता है इसलिए हर व्यक्ति अपने शुभ मंगल के लिए शनि देव की पुआ आराधना करता है| ये तो आप जानते ही होंगे की शनिवार को शनि देव को तेल चढ़ाया जाता है , और आप सभी को पता होगा शनिवार को शनि देव का दिन होता है इस दिन शनि देव की पूजा की जाये तो शनि देव प्रसन रहते है और किसी भी व्यक्ति पर संकट नहीं आने देते|

हमारे शास्त्रों के अनुसार शनि देव “सूर्यपुत्र” है और शनिदेव ही न्याय के देवता है| और ये ही हमारे सभो दुखों का कारन भी हैं| और जैसा की आप जानते हैं की ग्रहों की चाल हमेशा बदलती रहती है और जब शनि देव अपनी चाल बदलते हैं तो किसी के लिए ये सुख की घडी होती है तो किसी के दुखो का कारन बनता है| लेकिन इस बार आपको बता दे की जो शनि ने अपनी चाल बदली है और वक्री हुए हैं जिससे हर व्यक्ति को बड़ी समस्या हो सकती है| इस बार जो शनि देव वक्री हुए हैं उससे इन 4 राशियों के लोगो दुखो का सामना करना पद सकता है| किसी का बना हुआ काम ख़राब हो सकता है तो कोई बीमार पद सकता है|

शनि के वक्री होना किसी भी व्यक्ति पर आ सकती है और इनके वक्री होने से बहुत से व्यक्तियों को अपने जीवन में दुखो का सामना करना पद सकता है| आपके जीवन में दरिद्रता आ सकती है और आपके ऊपर कोई भरी संकेत आ सकता है| आपको बता दें की जिन राशि पर शनि का संकट यानी की शनि के वक्री आने वाली है वो राशि ये है ” वृश्चिक, वृषव और तुला व् मीन|  आपको बता दे की जब शनि देव वक्री होते है तो हर सफल होने वाला कार्य ख़राब हो जाता है और आपके होते हुए कार्य भी रुक सकते है या कोई काम नहीं होगा या घर में कोई परेशानी जरूर आएगी|

शनि देव के वक्री होने से आपका समय अच्छा नही रहेगा और ऐसे में आप शनिदेव की पूजा जरूर करें और शनि देव के मंदिर में शनिवार के दिन सरसों का तेल जरूर चढ़ाएं जिससे की आपकी परेशानी कम हो सकेगी| और अपने द्वार पर आये किसी गरीब को घर से बिना कुछ दिए न भगाये ,और हर दिन शनि देव की आरती जरूर से करें|