इस लड़की ने एक साथ 5 सगे भाइयों से रचा ली शादी, वजह जानकर आपका भी दिमाग हिल जायेगा

आज हम आपको प्राचीनकाल की कथा से जुडी एक सच्ची कहानी बताने वाले है जिसे जानकर आप भी हैरान रह जायेंगे |आप सभी को पौराणिक कथा महाभारत की कहानी के बारे में तो पता ही है। महाभारत में पांडवों की कहानी का जिक्र किया गया है जिसमे सबसे ज्यादा चर्चित अगर कोई था तो वह द्रौपदी थी जो की पांचो पांड्वो  की पत्नी बनी थी ।

जिस तरह से महाभारत काल में द्रौपदी की शादी केवल अर्जुन से हुई थी लेकिन माता कुंती के आदेश की वजह से उन्हें पांचों पांडवों से शादी करना पड़ा  और अब कलयुग में हाल ही में ऐसा सच में एक लड़की के साथ हुआ लेकिन क्या आप सोच सकते हैं कि आज के समय में भी ऐसा हो सकता है लेकिन अगर आप ऐसा नहीं सोच  सकते तो हम आपको आज एक ऐसी महिला के बारे में बताने वाले है जिसे कलयुग की द्रौपदी कहा जाता है |

हम समझ सकते है की ये बात जानकर आपको भी बेहद अजीब लग रहा होगा लेकिन आज हम आपको जिस कलियुग की द्रौपदी के बारे में बताने जा रहे हैं,  वह कलियुग की द्रौपदी कहीं और की नहीं बल्कि उत्तराखंड की है जिसका नाम रजो हैबता दे उत्तराखंड की रहने वाली रजो नाम की एक लड़की ने एक लड़के से शादी की लेकिन  बाद में रजो को अपने ही पति के अन्य चार भाइयों से भी शादी करनी पड़ी।बता दे इन  दिनों सोशल मीडिया पर एक ऐसे परिवार की तस्वीर वायरल हुई है जिसमें पांच मर्दों के बीच सिर्फ एक महिला दिखाई दे रही है

ये परिवार देहरादून के पास एक गांव में रहनेवाला है. बताया जाता है कि यह परिवार सालों से एक प्राचीन प्रथा का निर्वाह कर रहा है.इस प्रथा के मुताबिक इस परिवार की राजो वर्मा नाम की महिला को अपने पति के बाकी चार भाईयों से भी शादी करनी पड़ी. कलयुग की द्रौपती राजो पांच भाईयों की पत्नी है, जो हर रात अलग-अलग भाईयों के साथ रहती है.

केवल यही नहीं उस अकेली लड़की को पाँचों भाइयों के साथ शारीरिक सम्बन्ध भी बनाने पड़ते हैं। लेकिन इतना सब कुछ होने के बावजूद भी इन भाइयों में सबसे खास बात ये है की इनमे कभी भी रजो को लेकर कोई विवाद या तनाव नहीं होता|आपको जानकर हैरानी होगी की पांच पतियों वाली रजो का एक बेटा भी है लेकिन  रजो आज तक ये नहीं जान सकी की ये बेटा पांचों भाइयों में से किसका है  लेकिन फिर भी वे सब मिलकर बच्चे को अच्छे से पाल भी रहे हैं।

आपको जानकर हैरानी होगी की जब इस बारे में रजो से पूछा गया तो उन्होंने कि वह बहुत खुशनसीब है कि उसे 5 पति मिले हैं। पाँचों उसे खूब प्यार करते हैं। उसनें आगे कहा कि वह जानती है कि इस तरह की शादी को कानून मान्यता नहीं देता है लेकिन, उसनें तो की है|आपको बता दें कि उत्तराखंड और तिब्बत के कई इलाकों में लड़कियों की संख्या पुरुषों की तुलना में काफी कम है। इस वजह से उन्हें शादी के लिए इस अजीबोगरीब प्रथा का पालन करना पड़ता है|

हालांकि भारत में अलग-अलग तरह की संस्कृति और परंपरा होने के कारण बहुपति प्रथा के बारे में जानना कोई चौंकाने वाली बात नहीं है। भले ही इन प्रथाओं के आज के जमाने में कोई मायने न हो लेकिन इनसे पता चलता है कि कितनी चीजे हैं जो पहले जमाने से अब बदली भी हैं और नहीं भी।