मोबाइल रिचार्ज कराने आई लड़की के साथ दुकानदार की बढ़ी थी नजदिकियां, एक दिन उसके साथ गई ओर हो गया ये हाल

कहते हैं कि लोग प्‍यार में कुछ भी कर गुजरते हैं वहीं कई बार ये कुछ भी कई बार ऐसा हो जाता है कि लोग दंग रह जाएंगे। दरअसल इस बार भी कुछ ऐसा ही हुआ बता दें कि प्‍यार में कभी-कभी नजदीकियां इतनी बढ़ जाती हैं कि प्‍यार में बहुत कुछ हो जाता है और उस प्यार का अंजाम बहुत भयानक होता है। जानकारी के लिए बता दें कि हाल ही में जो घटना सामने आई है उसमें बताया जा रहा है कि एक युवक को लड़की का प्रेम प्रस्ताव इनकार करना इतना नागवार गुजरा कि उसने बस स्टैंड पर सरेआम लड़की पर चाकू से ताबड़तोड़ हमला कर दिया। युवक ने 4 बार चाकू घोंप कर लड़की को लहुलूहान कर दिया। इस घटना के बाद लड़की वहीं अधमरी होकर गिर पड़ी जिसे देखकर लोग लड़की की तरफ उसे बचाने के लिए दौड़े तो युवक भाग निकला।

वैसे आपको बता दें कि इस घटना के बाद पुलिस ने उसे डिटेन कर लिया। जानकारी के लिए बता दें कि ये हैरान कर देने वाली घटना मंगलवार सुबह 10:30 बजे अरथूना बस स्टैंड क्षेत्र पर हुई। बताया जा रहा है कि खांटवाड़ा निवासी 20 वर्षीय वनीता पुत्री मोहन खांट गांव में ही कंगन स्टोर पर काम करती है। उस समय उस दुकान का मालिक खाना खाने के लिए घर गया था जिस बीच बड़ोदिया का रहने वाला 23 वर्षीय सोनू कुमार सिंह राजपूत आया और वनीता को कुछ काम का बहाना बनाकर अपने साथ चलने को कहा। वनीता सोनू को जानती थी इसलिए वो आसानी से उसके साथ जाने को राजी हो गई।

लेकिन उसे क्‍या पता था कि वो उसे उसकी मौत के लिए लेकर जा रहा है। जैसे ही वनीता बस स्टैंड के समीप पहुंची पर सोनू ने वनीता को प्रपोज किया और अपने साथ चलने के लिए कहा लेकिन वनीता ने तुरंत इनकार कर दिया। इस बात के बाद कुछ देर तो सोनू उसे मनाता रहा लेकिन वनीता एकदम नहीं मानी तो सोनू को गुस्‍सा आ गया और उसने गुस्‍से में ही उसी समय चाकू से वनीता पर ताबड़तोड़ वार किए। सोनू ने वनीता के हाथ और पेट पर 4 बार चाकू घोंपा, जिससे वह लहूलुहान होकर नीचे गिर पड़ी।

इस घटना के समय वनीता की चीख सुनकर आस पास के कुछ लोग दौड़ कर उसके पास आए लेकिन तब तक सोनू वहां से फरार हो चुका था। बाद में लोगों ने वनीता को स्थानीय अस्पताल पहुंचाया। जहां प्राथमिक इलाज के बाद उसे एमजी अस्पताल रैफर कर दिया गया। जख्मी वनीता की हालत नाजुक होने पर उदयपुर रैफर कर दिया गया। अारोपी सोनू को पुलिस ने पकड़ लिया है। बता दें कि सोनू मूल रूप से उत्तरप्रदेश के औरंगाबाद का रहने वाला था और उसके बड़े भाई की अरथूना में मोबाइल की दुकान है। भाई की काम में मदद कर सोनू उसी के साथ रहता था।

बताया जाता है कि वनीता सोनू के भाई के घर घरेलू कामकाज के लिए आती थी। इसी दौरानी वो दोनों एक-दूसरे से मिले और नजदीकियां बढ़ी। सोनू के भाई को इसका पता चला तो उसने सोनू को घर से निकाल दिया। लेकिन सोनू ने इसके बाद जौलाना में मोबाइल की दुकान खोली जहां 3 महीने पहले दुकान बंद कर दी।