जाने छींक आना कब शुभ होता है और कब अशुभ ?

अगर हम अपने हिन्दू धर्म की बात करे तो हिन्दू धर्म में शुभ और अशुभ को लेकर बहुत सी मान्यताएं प्रचलित है. जी हां जैसे कि अगर काली बिल्ली आपका रास्ता काट ले, तो इसे अशुभ माना जाता है. इसके इलावा अगर अचानक मंदिर का दीयां बुझ जाए या दूध उबल कर बर्तन से बाहर गिर जाए तो इसे अशुभ ही माना जाता है. ऐसा कहा जाता है कि अगर कोई शुभ काम करते समय उसमे किसी भी तरह की रुकवाट आ जाएँ, तो वो कार्य कभी संपन्न नहीं होता या उस कार्य से कभी लाभ नहीं मिलता.

बरहलाल हिन्दू धर्म में ऐसी बहुत सी घटनाएं है जिन्हे शुभ और अशुभ से जोड़ कर देखा जाता है. गौरतलब है कि ऐसी ही कई मान्यताएं छींक को लेकर भी हिन्दू धर्म में देखने और पढ़ने को मिलती है. जी हां ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जब किसी व्यक्ति को छींक आती है तो इसका संबंध भी शुभ और अशुभ से जोड़ा जाता है. इसलिए आज हम आपको बताएंगे कि ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जब किसी व्यक्ति को छींक आती है, तो इसका क्या मतलब होता है. हमें यकीन है कि आपको ये जानकारी जरूर पसंद आएगी. तो चलिए अब इसके बारे में आपको विस्तार से बताते है.

१. गौरतलब है कि अगर रसोई घर में दूध उबालते समय छींक आ जाएँ, तो इसे वास्तव में अशुभ माना जाता है. जी हां इसका मतलब ये है कि आपका घर के किसी सदस्य के साथ मन मुटाव हो सकता है. इसलिए अगर हो सके तो दूध उबालते समय तो बिलकुल भी न छींके.

२. इसके इलावा अगर आप किसी शुभ काम से जा रहे है और इस दौरान आपके सामने कोई गाय छींक दे, तो इसका मतलब ये है कि आपका वो काम जरूर सफल होगा. जी हां बता दे कि ये आपको धन लाभ होने का संकेत है. हालांकि ये सुनने में थोड़ा नामुमकिन सा लगता है. मगर वो कहते है न कि जो चीज न मुमकिन लगती है, वास्तव में वो कभी भी मुमकिन हो सकती है.

३. इसके इलावा अगर आप किसी काम से बाहर जा रहे है और इस दौरान रास्ते में कोई कुत्ता छींक दे तो समझ लीजिये कि आपका वो काम पूरा नहीं हो सकता. हालांकि अगर कुत्ता एक से ज्यादा बार छींकता है, तो मुसीबत टल भी सकती है.

४. इसके साथ ही शास्त्रों के अनुसार अगर दवाई लेते समय आपको छींक आ जाए और दवा आपके हाथ से गिर जाएँ, तो समझ लीजिये कि आपको जल्द ही उस रोग से छुटकारा मिलने वाला है. जी हां यानि आपकी सेहत में जल्दी ही सुधार आने वाला है.

५. इसके इलावा अगर कोई व्यक्ति शमशान या किसी दुर्घटना स्थल पर छींक देता है तो वैदिक साहित्य के अनुसार इसे शुभ माना जाता है.

यानि अगर हम सीधे शब्दों में कहे तो शास्त्रों के अनुसार जहाँ एक तरफ छींक मारने से बहुत कुछ शुभ होता है, वही दूसरी तरफ इससे कुछ अशुभ चीजें भी हो सकती है. अब यूँ तो आज के समय में लोग इन बातों पर यकीन नहीं करते, लेकिन फिर भी शास्त्रों में कही गई बातें भी गलत नहीं होती.

इसलिए हम उम्मीद करते है कि आप जब भी छींक मारे तो इससे आपको केवल शुभ संकेत ही मिले.