सीवर में बसा है एक दंपति का संसार, 22 सालों से यहां रहते हैं ये लोग

दुनिया का हर इंसान चाहता है कि उसके पास एक अपना घर हो। सुंदर से अपने आशियाने का सपना तो हर इंसान देखता है। गरीब हो या अमीर हर इंसान चाहता है कि उसकी जरुरतों का हर सामान उसके घर में मौजूद हो। अपने घर का सपना तो कभी आपने भी देखा होगा या फिर देखते होंगे, लेकिन क्या आप कभी सोच सकते हैं कि आपका घर सीवर में हो तो। नहीं ना, ऐसा कैसे हो सकता है। लेकिन ऐसा है । इस दुनिया में ऐसे भी लोग हैं जिनका संसार सीवर में बसा हुआ है।

हम बात कर रहे हैं कोलम्बिया की राजधानी मेडेलिन की। जहां एक दंपति ऐसा है जो पिछले 22 सालों से एक सीवर में रह रहा है। इन लोगों ने अपनी पूरी दुनिया यहीं बसा ली है। आपको ये जान कर आश्चर्य भी होगा कि इन लोगों ने अपने इस घर को बड़े ही खूबसूरती से सजा भी रखा है। इनके घर में किचन भी है, एक छोटा सा टीवी भी है। और घर के कोने में सजाने की कुछ वस्तुएं भी रखीं हुई है। आप सोच रहे होंगे कि इनके घर में तो अंधेरा होगा, तो ऐसा बिल्कुल भी नहीं है क्योंकि इनके यहां बिजली भी आती है। इनका घर देख कर ऐसा बिल्कुल भी नहीं लगता कि ये सीवर में बना हुआ है।

दरअसल ये दंपति मारिया गार्सिया और उनके पति मिगुएल रेस्ट्रेपो मेडेलिन की सड़कों पर मिले थे। जब ये दोनों एक- दूसरे से मिले थे, उस वक्त दोनों को ही ड्रग्स लेने की बुरी लत थी। अपने इस लत की वजह से दोनों अपनी जिंदगी खत्म कर लेना चाहते थे। दोनों में ज़रा भी जीने की इच्छा नहीं बची थी। क्योंकि मारिया और मिगुएल दोनों के पास खोने के लिए कुछ भी नहीं था। ना ही पैसे, जायदात और ना ही परिवार। मारिया और मिगुएल दोनों ही इस दुनिया में अकेले थे। लेकिन जब ये दोनों एक- दूसरे से मिले, तो दोनों को जीने की वजह मिली। दोनों ने नशे की लत को अलविदा कह दिया और मेडेलिन की सड़कों पर साथ रहने लगे।

मारिया और मिगुएल को 22 साल पहले एक सीवर में रहने की जगह मिली । जिसके बाद दोनों यहां रहने लगे और शादी भी कर ली। दोनों ने मिलकर सीवर को ही अपना घरौंदा बना लिया। मारिया और मिगुएल के साथ इनका एक वफादार कुत्ता भी रहता है, जिसका नाम ब्लैकी है। ब्लैकी इनके इस घर की रखवाली करता है। इस दम्पति का मानना है कि ये जगह और लोकेशन शांतिपूर्ण है और ये शहर की भाग-दौड़ भरी व्यस्त जिंदगी से बहुत दूर है।मारिया और मिगुएल अब यहीं इस सीवर में पिछले 22 सालों से अपनी जिंदगी बिता रहे हैं। ये अपने इस आशियाने में एक- दूसरे के साथ बहुत खुश हैं। ये हर त्योहार एक- दूसरे के साथ ही मना लेते हैं।

किसी ने सच ही कहा है कि खुशियां तो आपको कहीं भी मिल सकती है। बस खुश रहना आना चाहिए। मारिया और मिगुएल आज बन सारे लोगों के लिए उदाहरण हैं जो जिंदगी से उब चुके हैं और अपने जीवन को बोझिल समझते हैं।