इस वजह से पति की उम्र हमेशा पत्नी से ज्यादा होनी चाहिए, वहज कर देगी हैरान

आप ने अपने अक्सर अपने आपास या फिर अपने खुद के परिवार में अपने माँ बाप या फिर दादा दादी के बीच एक उम्र का फासला देखा होगा. पहले के जमाने में अमूमन या शादी में पति की उम्र पत्नी से कुछ साल ज्यादा ही बड़ी होती थी लेकिन आजकल उम्र के साथ साथ ये फासला काफी कम होगया है. आज कल लव मैरिज ज्यादा होने लगी ही जिस वजह से लड़के लड़कियां खुद ही अपना जीवन साथी ढूंढते हैं जो की उनके ही हम उम्र होते हैं लेकिन पहले ऐसा नहीं था पहले ज्यादातर शादियाँ दो परिवारों के आपसी सहमति से होती थी. आज हम आपको बताने जा रहे हैं की आखिर क्यूँ एक शादी में हमेशा पति की उम्र पत्नी से ज्यादा होनी चहिये. तो आईये जानते हैं की आखिर क्या है इसके पीछे की असली वजह.

आपको बता दें की एक शादी में पति की उम्र पत्नी से हमेशा बड़ी इसलिए होनी चहिये क्यूंकि पुरुषों का उम्र बड़ा होने से उनमे संयम, चेतना, आत्मशक्ति, कुशल मनोभाव, नेतृत्व करने की क्षमता ज्यादा आती है.  चूँकि हमारे देश में एक शादी में पुरुषों को ही परिवार का सूचक माना जाता है इसलिए ये बेहद जरूरी है की उसके अंदर ये सभी गुण हो.

इसके अलावा यदि पुरुष की उम्र स्त्री से ज्यादा होगी तो वो स्त्री का अच्छे से ख्याल भी रख सकता है और उसे हर आने वाले दिक्कतों से भी बचा कर रख सकता है. बता दें की शादी में पति की उम्र ज्यादा होना इसलिए भी अच्छा होता है क्यूंकि एक सूझ भूझ वाले आदमी से शादी के बंधन में बंधना ही बेहतर माना जाता है.

इसके अलावा आपको बता दें की हर माँ बाप भी अपनी बेटी क लिय उसे बड़े वर का ही चुनाव करते हैं क्यूंकि उनका भी ये मानना होता है की उम्र के साथ ही मर्दों में परिवाक्प्ता आती है जो की उनके शादी शुदा जिंदगी के लिए काफी जरूरी माना जाता है. इसलिए भी जब परिवार के लोग पानी बेटी के लिए दुल्हे का चुनाव करते हैं तो हमेशा ये देखते हैं की लड़के की उम्र लड़की से ज्यादा हो ताकि दोनों के बीच सामजस्य बन सके.

आपको बता दें की एक सफल शादी शुदा जिंदगी के लिए भी पति की उम्र पत्नी से ज्यादा होनी चहिये क्यूंकि ऐसा माना जाता है की शादी के रिश्ते में पति पत्नी में किसी एक को समझदार होना चहिये नहीं तो आगे चलाकर रिश्ते टूट भी सकते हैं. बता दें की आजकल अधिकतर रिश्ते इसी वजह से टूटते हैं क्यूंकि आजकल लव मैरिज का चलन ज्यादा है जिस वजह से अमूमन हर शादी में लड़के लड़कियों की उम्र में ज्यादा अंतर नहीं होता है. अगर पति पत्नी में स एकोई एक समझदार हो तो रिश्ते को बचाया जा सकता है वर्ना उसका टूटना लगभग तय ही समझा जाता है. इसलिए आज भी बहुत से परिवारों में माता पिता पानी बेटियों की शादी उनसे उम्र में बड़े लड़के से करना ही उचित समझते हैं क्यूंकि उन्हें उम्मीद रहती है की दोनों एक दुसरे को संभाल लेंगे और पत्नी चाहे कितनी भी जिद करें पति अपनी सूझ बूझ से पानी शादी बचा ही लेगा.