हाथी गायब कर मुसीबत में फंसा ये मशहूर जादूगर, हुआ कुछ ऐसा कि पढ़ गए लेने के देने, देखे Video

दोस्तों जंगली जानवरों का इस्तेमाल सर्कस और जादू के खेलो में पिछले कई सालो से किया जा रहा हैं. हालाँकि बहुत कम लोग जानते हैं कि सुप्रीम कोर्ट ने सर्कस में जंगली जानवरों के इस्तेमाल पर 1990 में ही रोक लगा दी थी. हालाँकि आज भी कई ऐसे सर्कस और मैजिक शो होते हैं जहाँ जानवरों का इस्तेमाल किया जाता हैं. इसका एक ताज़ा उदहारण मध्य प्रदेश के शहर इंदौर में हुए विश्व प्रसिद्ध जादूगर आनंद के एक मैजिक शो के दौरान देखने को मिला. इस शो में आनंद ने अपने एक जादू के खेल में पुरे के पुरे हाथी को गायब कर दिया. हालाँकि इस वजह से अब वो भारी मुसीबत में पढ़ गए हैं. मैजिक शो में हाथी का इस्तेमाल तो गैरकानूनी था ही लेकिन शो के बाद प्यूपिल फॉर एनिमल्स संगठन के लोगो को कुछ ऐसा दिखाई दिया जिससे जादूगर आनंद के लिए और भी मुसीबत खाड़ी हो गई. आइए विस्तार से जाने क्या हैं पूरा मामला…

दरअसल इंदौर में 4 मई को रविंद्र नाट्य गृह में विश्व प्रसिद्ध जादूगर आनंद का एक मैजिक शो चल रहा था. यह शो दो से तीन दिनों तक चला. इसमें आनंद ने कभी ट्रक खींचकर तो कभी आंखों पर पट्टी बांधकर जादू के कई करतब दिखाए. इसी कड़ी में आनंद ने स्टेज से हाथी को गायब करने का एक करतब भी दिखाया. जब इसकी खबर इंदौर के प्यूपिल फॉर एनिमल्स के सदस्यों को लगी तो वे भी शो देखने के लिए पहुँच गए. शो बाद में जब इन लोगो ने हाथी को देखा तो पाया कि ये हाथी घायल हैं और इसे जगह जगह चोटें भी लगी हैं. इस घटना के बाद जादूगर आनंद के खिलाफ हाइकोर्ट की इन्दौर खंडपीठ में एक याचिका दायर की गई.

दरअसल याचिकाकर्ता प्रियांशु जैन के अनुसार मैजिक शो में किसी भी जानवर का इस्तेमाल करना पशु क्रूरता के अंतर्गत आता हैं. इस शो में इस्तेमाल किया गया हाथी एनिमल वेलफेयर बोर्ड की टाइप-1 कैटेगरी में आता है. साथ ही गंभीर बात ये हैं कि हाथी के घायल होने के बाद भी इसे शो के लिए इस्तेमाल किया गया जो बहुत बड़ी पशु क्रूरता हैं. घायल हाथी को शो में इस्तेमाल करने की बजाए उसका इलाज कर वापस जंगल में छोड़ देना चाहिए. इस मामले में इंदौर जिला प्रशासन और वन विभाग की लापरवाही भी सामने आई हैं.

उधर जादूगर आनंद ने अपनी सफाई पेश करते हुए कहा कि शो के लिए हाथी के इस्तेमाल की अनुमति कलेक्टर निशांत बरवड़े ली गई थी. इस पुरे मामले को लेकर कई सारे सवाल खड़े हुए हैं. फिलहाल इस मामले की सुनवाई कोर्ट में 24 मई को होना हैं. जानकारी के मुताबिक ये घायल हाथी इंदौर के ही रहने वाले महावत रामेश्वर से लिया गया है. हालाँकि इस बात को लेकर किसी भी प्रकार की अनुमति नहीं ली गई थी. यह अनुमति सेंट्रल जू अथारिटी दिल्ली से लेना होती हैं. या आप चाहे तो  एनिमल वेलफेयर ऑफ इंडिया से भी ले सकते हैं.

वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दे कि बॉलीवुड में भी अब जंगली जानवरों के इस्तेमाल को काफी कम कर दिया गया हैं. यदि फिल्म डायरेक्टर किसी जानवर का इस्तेमाल करता भी हैं तो उसे एनिमल वेलफेयर बोर्ड के तमाम कानूनों का पालन करना होता हैं.

फिलहाल आप शो में इस्तेमाल हुए घायल हाथी का विडियो यहाँ देख सकते हैं.

देखे विडियो: