आपके सर ही नहीं बल्कि पेट में भी हो सकता है माईग्रेन का दर्द, जरूर जाने क्या है पेट में माईग्रेन होने के लक्षण

आपको एक बार को ये सुनकर हैरानी जरूर हो सकती है की भला पेट में कैसे माईग्रेन हो सकता है. लेटेस्ट रिसर्च से बात मालूम चली है की आजकल कई लोगों को अब्डोमिनल माईग्रेन भी हो रहे हैं. जी हाँ आज हम आपको इसी के बारे में बताने जा रहे हैं की आखिर में ये हैं क्या और इसके क्या लक्षण होते हैं. तो आईये जानते हैं की क्या है पेट में होने वाला माईग्रेन और कैसे इससे बचा जा सकता है.

आमतौर पर माईग्रेन का नाम सुनते ही लोगों के मन में यहीं धारणा आती है की इसका मतलब है सर में भयानक दर्द होना. आपको बता दें की लेटेस्ट रिसर्च से ये मालूम चला है की असल में आजकल लोगों को पेट में भी माईग्रेन की समस्या हो रही है जिसे अब्डोमिनल माईग्रेन कहा जाता है. आपको जानकर हैरानी होगी की पेट में होने वाले माईग्रेन आमूमन हेरीडीटेरी होते हैं, पेट में माईग्रेन की समस्या होने पर आमतौर पर लोगों को पेट में तेज दर्द की शिकायत होती है और इसके साथ ही साथ पेट में मरोड़ जैसा भी अनुभव होता है. इसके साथ ही साथ आपको बता दें की अब्डोमिनल माईग्रेन होने पर बॉडी में काफी ज्यादा थकान और उल्टी आदि की समस्या भी उत्पन्न होती है.

बता दें की अब्डोमिनल माईग्रेन होने का सबसे ज्यादा खतरा असल में बच्चों को होता है. आपको जानकर हैरानी होगी की बच्चों में पनपने वाला आजकल ये एक नयी बीमारी है जो खासकरके बच्चों को अपने चपेट में ले रही है. बता दें की बच्चों में इस तरह के माईग्रेन खासकरके लड़कियों में देखा गया है और लेटेस्ट रिसर्च के अनुसार भी यहीं बात सामने आई है की लड़कियों में अब्डोमिनल माईग्रेन के चांसेस सबसे ज्यादा होते हैं. अब्डोमिनल माईग्रेन की समस्या बच्चों में आमतौर पर तब उत्पन्न होती है जब बच्चों के शारीर में खासकरके हिस्टामाईन और सेरोटोनिन नामक तत्व बढ़ जाते हैं. बता दें की शारीर में ये तत्व खासकरके चाईनीज खाने और इंस्टेंट नूडल्स के ज्यादा इस्तेमाल और चोकलेट खाने से बनते हैं. जी हाँ इसलिए अब्डोमिनल माईग्रियन की समस्या अमूमन बच्चों में ही देखा गया है, इसके अलावा ये रोग अनुवांशिक भी है यानि की आगर किसी बच्चे के माता पिता में से किसी को भी कभी माईग्रेन की समस्या रही है तो संभव है की आगे जाकर उनके बच्चों में अब्डोमिनल माईग्रेन की समस्या उत्पन्न होगी.

अब अगर अब्डोमिनल माईग्रेन के लक्षणों की बात करें तो आमतौर पर इसके लक्षण हैं पेट में भनायक दर्द होना, पूरे दिन थकान और सुस्ती रहना, पेट का रंग पीला दिखाई देना, भूख ना लगना और खाने पीने का बिलकुल भी मन नहीं करना. इसके अलावा अब्डोमिनल माईग्रेन होने पर आमतौर पर बच्चों के आँखों के नीचे गड्ढे भी आ जाते हैं. इसका दर्द कई बार तो कुछ ही देर में गयाब हो जाता है लेकिन कई बार ये दो तीन दिनों तक भी रह सकता है. इसके इलाज के लिए अपने मन से बच्चों को पेनकिलर देने के वजाय बेहतर है की उन्हें फ़ौरन किसी डॉक्टर के पास लेके जाए और प्रॉपर इलाज करवाएं.