मंडप में दुल्हन के साथ होने वाला था अनर्थ, फिर हुआ ऐसा चमत्कार कि सब रह गए दंग

इसमें कोई शक नहीं कि जो लोग लड़कियों को बोझ समझते है और आर्थिक रूप से उनकी देखभाल करने में या उनकी शादी करवाने में असमर्थ होते है, वो अक्सर अपनी बेटियों को ऐसे दलदल में फेंक देते है, जहाँ से उनके लिए निकल पाना बेहद मुश्किल होता है. हालांकि अब जमाना काफी बदल गया है और आज लड़कियां खुद अपने पैरो पर खड़ा होना जानती है. मगर फिर भी जो परिवार बेटियों को पढ़ा नहीं सकते, वो हमेशा अपनी बेटियों को अनपढ़ ही रखते है. जिसका नतीजा ये होता है कि लड़कियां चाह कर अपने पैरो पर खड़ी नहीं हो पाती.

वही अगर बेटियों की शादी की बात करे तो आज के समय में लड़की को खुद अपना जीवन साथी चुनने का पूरा हक़ होता है. जी हां अगर लड़की के माता पिता आर्थिक तंगी के कारण उसके लिए कोई निकम्मा या नालायक लड़का ढूंढ भी ले, तो लड़की में इतनी समझ जरूर होती है, कि कौन उसके लायक है और कौन नहीं. ऐसे में लड़की अपने भविष्य को लेकर बहुत सोच समझ कर ही कदम आगे बढ़ाती है. बरहलाल आज हम आपको एक ऐसी ही खबर से रूबरू करवाने वाले है, जिसके बारे में जान कर आप हैरान रह जायेंगे.

वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दे कि यह मामला बिहार के छपरा गांव का है. जहाँ एक लड़की की शादी एक मंदबुद्धि लड़के के साथ तय की गई थी और लड़की को ये बात शादी के मंडप में पता चली. जी हां यक़ीनन आपको भी जान कर हैरानी हो रही होगी, लेकिन ये सच है. गौरतलब है कि पटना जिले के अरविन्द कुमार राय बारात लेकर सकलदेव राय के यहाँ पहुँच गए. बता दे कि बारात के आने के बाद सबसे पहले दूल्हे की पूजा करके उसका स्वागत किया गया और फिर बारातियो का भी स्वागत करके उन्हें अंदर ले जाया गया. इसके बाद दूल्हा और दुल्हन को मंडप में बिठाया गया.

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि जब दूल्हे को मंडप में बिठाया गया, तब दुल्हन को उसकी हरकते काफी अजीब सी लगी. जिसके तहत वह काफी समय तक दूल्हे को देखती रही और फिर उसे समझ आ गया कि ये लड़का उसके लायक नहीं है. यानि ये लड़का मंदबुद्धि है. अब जाहिर सी बात है कि कोई भी समझदार लड़की किसी मंदबुद्धि लड़के से शादी करने के लिए तो कभी राजी नहीं होगी. जिसके चलते इस दुल्हन ने भी शादी करने से इंकार कर दिया. वही जब दुल्हन की मर्जी के बारे में उसके घर वालो को पता चला तो उन्होंने दूल्हे से बात करने ये जानने की कोशिश की, कि आखिर बात क्या है. मगर इस दौरान दूल्हा कुछ भी नहीं बोला.

ऐसे में लड़के के घर वालो ने समझौता करके लड़की की शादी दूल्हे के छोटे भाई से करवाने की बात कही, लेकिन लड़की के घर वाले नहीं माने और न ही लड़की इसके लिए राजी थी. वैसे आपको जान कर ताज्जुब होगा कि लड़की की बदनामी न हो, इस वजह से शादी में आये एक युवक ने लड़की से शादी करने की बात कही और लड़की के घर वालो ने भी सलाह करके लड़की की शादी उस युवक से करवा दी.

 बरहलाल वो युवक कौन था, ये तो हम नहीं जानते, लेकिन लड़की की शादी एक मंदबुद्धि लड़के के साथ होने से बच गई, इस बात की हमें बेहद ख़ुशी है.