इन दो राशि वालों पर हमेशा बनी रहती है शनिदेव की कृपा, जानें क्‍या है इनमे खास

ज्योतिषशास्त्र की बात की जाए तो कुल 12 राशियाँ होती हैं जो कि व्‍यक्त्‍िा के जीवन से जुड़ी होती है हर व्‍यक्ति की एक विशेष राशि होती है जिसके जरिए वो अपने बारे में जान सकता है। हर राशि का महत्व अलग-अलग होता है वहीं इन राशियों के स्‍वामी ग्रह भी अलग अलग होते हैं। जानकारी के लिए बता दें कि मेष और वृश्चिक राशि का स्वामी मंगल ग्रह को माना जाता है तो वहीं वृष और तुला राशि का स्वामी ग्रह शुक्र को माना जाता है। वहीं साथ ही मिथुन और कन्या राशि का स्वामी ग्रह बुध को माना जाता है तो कर्क राशि का स्वामी ग्रह चंद्रमा को माना जाता है तो वहीँ सिंह राशि का स्वामी ग्रह सूर्य है। धनु और मीन राशि का स्वामी ग्रह गुरु है। मकर और कुम्भ का स्वामी ग्रह शनिदेव हैं।

सभी ग्रहों में न्यायकर्ता शनि की सर्वाधिक महत्‍व दिया गया है शनिदेव कर्म के देवता है यानि की वो कर्मों के अनुसार फल देते है। अच्छा कर्म करने वाले के साथ अच्छा और बुरा कर्म करने वाले के साथ बुरा करते हैं। इसी वजह से इन्हें न्यायधीस भी माना जाता है। यही कारण है कि शनि की महादशा, साढ़ेसाती, ढैया सहित शनि के गोचर का नाम सुनकर ही भय लगने लगता है।

वहीं ये भी माना जाता है कि शनिदेव जिसपर अपनी कृपा बरसा देते हैं उसकी जिंदगी संवर जाती है। जी हां और ज्योतिषाचार्य मनीष शर्मा का कहना है कि फिल्‍हाल इन दो राशि वालों की कुंडली में शनि शुभ स्थिति में है जो कि इनके लिए बेहद ही अच्‍छा है और ऐसा होने से इन्हें जीवन के हर क्षेत्र में सफलता मिलती है।

तो आइए जानते हैं कौन सी है वो राशि

मकर राशि:

सबसे पहले तो ये जान लें कि अगर आपका नाम भो, जा, जी, खी, खू, खा, खो, गा या गी इन अक्षरों से शुरू होता है तो आप मकर राशि के हैं। वहीं इन राशि वाले जातकों की खासियत ये होती है कि ये बहुत ज्यादा महत्वाकांक्षी होते हैं। ये लोग मान-सम्मान प्राप्त करने के लिए हर समय तत्पर रहते हैं और इसके लिए हमेशा मेहनत भी करते हैं। इन लोगों को विलासिता का जीवन पसंद होता है, लेकिन इन्हें अपनी इच्छाओं को पूरा करने के लिए खूब मेहनत करनी पड़ती है।

इस राशि वाले लोगो को यात्रा करना बहुत पसंद करना होता है। ये लोग गंभीर स्वाभाव के होते हैं, इसलिए इनके ज्यादा दोस्त नहीं बन पाते हैं। साथ ही इन लोगों को कम बोलना पसंद है। ये लोग ईश्वर और भाग्य पर बहुत ज्यादा विश्वास करने वाले होते हैं।

कुम्भ राशि:

अगर आपका नाम गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो अक्षर से शुरू होता है तो आप कुम्भ राशि के हैं। इस राशि वाले जातकों को गंभीरता पसंद होती है और ये काम भी गंभीर होकर करते हैं। इस राशि के लोग बहुत ज्यादा बुद्धिमान होने के साथ ही अच्छे व्यवहार वाले भी होते हैं। इन लोगों को आज़ादी से जीने की आदत होती है।

इन लोगो को सामाजिक कार्यक्रमों से काफी लगाव होता है साथ ही इन्‍हें साहित्य कला और दान-पुण्य का काफी शौक होता है। ये लोग अपने मित्रों से कभी असमानता का व्यवहार नहीं करते हैं। इनकी यही आदत इन्हें सबका चहेता बना देती है।