अपनी पहली ही यात्रा में हाई-वे पर जा गिरी हाई स्पीड ट्रेन, दिल दहला देने वाली घटना

ट्रेन दुर्घटनाएं ज्यादातर दर्दनाक ही होती हैं। थोड़ी सी चूक ना जाने कितने परिवार को बिखेर देती हैं। हाल ही में एक ऐसी ही ट्रेन दुर्घटना सामने आईं, जिसे देखकर आपकी भी रूह कांप उठेगी। अगर आप भी कल्पना करेंगे इस दुर्घटना की तो आप भी हैरान- परेशान हो जाएंगे।

जी हां अमेरिका के वॉशिंगटन में एक ऐसा ट्रेन हादसा हुआ है, जिसमें 6 लोगों की मौत हो गई और करीब 300 से ज्यादा लोग घायल हो गए। बताया जा रहा है कि ये एमट्रैक ट्रेन सिएटल से पोर्टलैंड जा रही थी,  लेकिन बीच रास्‍ते में ही 501 नंबर की एमट्रैक ट्रेन हादसे का शिकार हो गई। ट्रेन पटरी से उतरकर सीधे नीचे बनी हाई-वे पर जा गिरी। ये हादसा करीब सुबह 7 बजकर 33 मिनट पर टकोमा के पास हुआ। ये एक पैसेंजर ट्रेन थी। खास बात ये है कि हादसे का शिकार हुई इस ट्रेन की यह पहली यात्रा थी। ये हाईस्पीड ट्रेन पहली बार अपने गंतव्य की ओर जा रहा था और चूक यहां हुई कि जिस मोड़ पर ट्रेन को 30 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलना था, वहां ट्रेन की स्पीड 130 किलोमीटर प्रति घंटे थी।

हाई-वे में गाड़ियों की आवाजाही अधिक होने की वजह से मरने वालों की संख्या बढ़ गई। वहीं तस्वीरों में तो आप देख ही सकते हैं कि ट्रेन की हालत कैसे बद- से- बदतर हो गई। बताया जा रहा है कि ट्रेन  हाई स्पीड रूट पर दौड़ रही थी तभी यह पटरी से उतर गई। ओवरब्रिज से सड़क पर गिरे ट्रेन का डिब्बे ने कई कारों को अपनी चपेट में ले लिया। इसके बाद सड़क पर आवाजाही बाधित हो गई। सड़क पर जा रहे कई दोपहिया वाहन भी इस दुर्घटना के शिकार बने और कुछ लोगों की दुर्घटना स्थल पर ही मौत हो गई।

इस बात का अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि ये हादसा कितना भयानक हुआ गया और ट्रेन में मौजूद लोगों ने उस वक्त कैसा महसूस किया होगा जब ट्रेन के डिब्बे पटरियों से उतर कर सड़क पर जा गिरे होंगे । तस्वीरों में तो ये साफ देखा जा सकता है कि किस तरह ट्रेन का एक डिब्बा ब्रिज और सड़क के बीच ही हवा में झूल गया। हालांकि मौके पर आए रेस्क्यू टीम ने हवा में लटके डिब्‍बे में फंसे यात्रियों को खिड़कियों के सहारे बाहर निकाला ।

हादसे के वक्त ट्रेन में सवार क्रिस कार्नेस नाम के एक यात्री ने बताया कि, ‘मैं आगे से तीसरे या चौथे डिब्बे में बैठा था, जब यह हादसा हुआ। मुझे नहीं पता कि अचानक से क्या हो गया। पीछे के इंजन को छोड़कर सभी डिब्बे पटरी से उतर गए। डिब्बे या तो नीचे हाईवे पर गिर गए या फिर बीच में हवा में झूलते रहे।’

हादसे के घंटो बाद तक इस हाइवे पर जाम लगा रहा। वॉशिंगटन राज्य की यातायात प्रवक्ता ब्रूक बोवा ने बताया कि ट्रेन में 77 यात्री और चालक दल के सात सदस्य सवार थे। सिएटल और पोर्टलैंड, ओरेगन को जोड़ने वाले मार्ग पर चलने वाली यह ट्रेन एक नई हाईस्पीड रेल सेवा का हिस्सा है।  दुर्घटना से पहले यह 130 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल रही थी। नेशनल ट्रांसपोर्टेशन सेफ़्टी बोर्ड घटना की जांच कर रहा है। इसे अब तक हुए बड़े रेल हादसों में से एक माना जा रहा है।